पद्मावत विरोध: गुरुग्राम में बच्चों से भरी स्कूल बस पर पथराव

नई दिल्ली:  एक फिल्म के लिए देश जल रहा है और सरकार खामोश होकर तमाशा देख रही हैं। तमाशबीनों की इस सरकार में किसी एक राज्य की सरकार शामिल नहीं है। हरियाणा, राजस्थान, मध्य प्रदेश, गुजरात, यूपी तक की सरकार करणी सेना के उत्पात के सामने बौनी हो चुकी हैं। पद्मावत का विरोध के नाम पर करणी सेना के गुंडों को जो भी जी में आ रहा है वो कर रहे हैं और पूरा सरकारी तंत्र अज्ञातवास में है।

बुधवार को सुबह से शाम तक कहीं बस जलाई गई, कहीं मॉल के शीशे तोड़े गए, कहीं गाड़ियों में आग लगाई गई तो कहीं ट्रेन रोकी गई। लेकिन बुधवार की शाम को गुरुग्राम से जो तस्वीर और खबर आई उसने पद्मावत का विरोध करनेवालों के ऊपर कलंक का धब्बा लगा दिया है।

गुरुग्राम में स्कूल के बच्चों से भरी बस को भी नहीं छोड़ा गया। विरोध के उन्माद में गुंडागर्दी की नई पराकाष्ठा पर पहुंचने को आतुर प्रदर्शनकारियों ने यहां स्कूल के बच्चों से भरी बस पर जनकर पथराव किया। बस के भीतर की तस्वीर देखकर किसी भी संवेदनशील व्यक्ति का कलेजा पसीज जाएगा। लेकिन सड़क पर गुंडागर्दी का नंगा नाच करनेवाले अराजक तत्वों से इस संवेदना की उम्मीद नहीं की जा सकती है।

चित्तौड़गढ़ किले के बाहर करणी सेना का प्रदर्शन (फोटी-एएनआई)

बाहर से हो रहे पथराव के बीच बच्चों ने बस के भीतर गाड़ी की सीट के नीचे छिपकर किसी तरह खुद को बचाया। लेकिन बाहर से चलनेवाले पत्थर ज्यादा थे और बस में छिपने की जगह कम। नतीजा ये हुआ कि कई बच्चों को चोट आई। बस में सवार किसी स्कूल स्टाफ ने पद्मावत का विरोध करनेवालों की कायरता का ये वीडिओ बनाया जो अब सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है।

Loading...