अब केवल 7 दिनों के लिए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री हैं नवाज शरीफ?

नई दिल्ली:  पनामा पेपर लीक मामले में फंसने के बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की मुश्किल बढ़नी शुरु हो गई है। पाकिस्तान की सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन और लाहौर हाईकोर्ट बार एसोसिएशन ने पीएम नवाज शरीफ को बड़ी धमकी दी है। वकीलों ने कहा है कि अगर 7 दिनों में नवाज  शरीफ इस्तीफा नहीं देते हैं तो उनके खिलाफ आंदोलन शुरु किया जाएगा।

दोनों बार काउंसिल के वकीलों ने कहा है पनामा पेपर्स केस में सुप्रीम कोर्ट के आदेश को देखते हुए शरीफ को लंबे वक्त तक अपने पद पर नहीं रहना चाहिए और उन्हें इस्तीफा दे देना चाहिए। पाकिस्तानी समाचार पत्र डॉन के मुताबिक दोनों बार एसोसिएशन का ज्वाइंट डिक्लरेशन SCBA और LHCBA के मेंबर्स और पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज सरकार के समर्थक वकीलों के बीच भिड़ंत के बाद सामने आया है।

9 मई को भिड़ंत के दौरान पीएमएल-एन के समर्थक वकीलों ने SCBA के प्रेसिडेंट राशीद ए. रिजवी को लाहौर हाईकोर्ट की लाइब्रेरी में बंद कर दिया था। जब इस बात की खबर SCBA के मेंबर्स को मिली तो उन्होंने हंगामे के दौरान ही किसी तरह रिजवी को वहां से निकाला।

Loading...

Leave a Reply