उपहार अग्नि कांड में गोपाल अंसल को जेल जाना ही होगा, मोहलत की याचिका SC में खारिज

नई दिल्ली: उपहार कांड में दोषी गोपाल अंसल को दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट में सरेंडर करना ही होगा। सुप्रीम कोर्ट में गोपाल अंसल की तरफ से सरेंडर के लिए मोहमत मांगी गई थी। लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने उनकी याचिका खारिज कर दी। सुप्रीम कोर्ट में दायर याचिका में कहा गया था उन्होंने राष्ट्रपति के पास दया याचिका लगाई है। इसलिए उन्हें सरेंडर के लिए वक्त मिलना चाहिए। इससे पहले कोर्ट ने 9 मार्च को फैसले में संशोधन की मांग वाली याचिका भी खारिज कर दी थी।




गोपाल अंसल ने सुशील अंसल की तरह जेल से राहत मांगी थी। लेकिन उस याचिका को भी कोर्ट ने 9 मार्च को ही खारिज कर दिया था। जिसके बाद उन्हें सरेंडर करने के लिए 20 मार्च तक की मोहलत दी गई थी।

ये भी पढें :

– निजामुद्दीन दरगाह के लापता मौलवी स्वदेश लौटे, पाकिस्तान में ISI ने किया था गिरफ्तार
दरअसल 9 फरवरी को कोर्ट ने अपहार अग्नि कांड में गोपाल अंसल को एक साल की सजा सुनाई थी। जबकि उनके भाई सुशील अंसल को स्वास्थ्य के आधार पर राहत दी गई थी। दिल्ली के उपहार सिनेमा में 1996 में बॉर्डर फिल्म के प्रदर्शन के दौरान आग लग गई थी। जिसमें झुलसकर 59 लोगों की मौत हो गई थी।

Loading...