कैदी नंबर 10711 बनीं शशिकला, बेंगलुरु जेल में बनाएंगी मोमबत्ती




नई दिल्ली: आय से अधिक संपत्ति मामले में दोषी करार AIADMK महासचिव शशिकला ने बेंगलुरु जेल में सरेंडर कर दिया। जेल में शशिकला को कैदी नंबर 10711 बनाया गया है। शशिकला को सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद जेल भेजा गया। बेंगलुरु जेल में शशिकला को मोमबत्ती बनाने का काम दिया जाएगा। मोमबत्ती बनाने के बदले शशिकला को रोजना 50 रुपये मेहनताना दिया जाएगा।

– शशिकला और पलनिसामी पर विधायकों के अपहरण का केस दर्ज

सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को इस मामले में फैसला सुनाते हुए शशिकला को जेल भेजने का आदेश दिया था। जिसके बाद शशिकला ने सरेंडर करने के लिए एक महीने का वक्त मांगा था। लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें और वक्त देने से इनकार कर दिया। जिसके बाद आज यानि बुधवार को शशिकला ने सरेंडर किया।

– आय से अधिक संपत्ति मामले में AIADMK महासचिव शशिकला दोषी करार
सरेंडर करने से पहले शशिकला ने इमोशनल कार्ड भी खेला। जेल जाने से पहले वो मरीना बीच पर जयललिता की समाधी पर गईं। जहां उन्हें श्रद्धांजलि दने के बाद वो कर्नाटक के लिए रवाना हुईं। कानून व्यवस्था ना बिगड़े इसलिए उन्हें बेंगलुरु जेल में रखा गया है।

इस मामले में जयललिता भी आरोपी थीं। लेकिन चुकी उनकी मौत हो चुकी है। इसलिए इस मामले के बचे तीनों आरोपियों को सुप्रीम कोर्ट ने दोषी माना था। सुप्रीम कोर्ट ने शशिकला के अलावे उनके भतीजे और जयललिता के दत्तक पुत्र सुधाकरण और इल्लावरासी को चार-चार साल की सजा सनाई थी। शशिकला के साथ इल्लावरासी भी बेंगलुरु जेल में सरेंडर करने पहुंची।

Loading...

Leave a Reply