JDU MLA सरफराज ने विधानसभा से दिया इस्तीफा, अररिया से लड़ेंगे लोकसभा उप चुनाव

JDU MLA सरफराज ने विधानसभा से दिया इस्तीफा, अररिया से लड़ेंगे लोकसभा उप चुनाव

नीरज झा

पटना:  बिहार की सियासत में एक नया परिवर्तन आया है। जेडीयू से विधायक सरफराज आलम ने विधानसभा से इस्तीफा दे दिया है। जिसके बाद अब वो आरजेडी के टिकट पर अररिया से लोकसभा उपचुनाव लड़ेंगे। अररिया में 11 मार्च को लोकसभा उपचुनाव है। सरफराज तस्लीमुद्दीन के बेटे हैं। उन्हें जेडीयू ने 2016 में ही निकाल दिया था। लेकिन अबतक वो विधायक थे।

जेडीयू और विधायकी से सरफराज आलम के इस्तीफे पर बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने चुटकी लेते हुए कहा है कि नीतीश कुमार के एक और एमएलए ने जेडीयू से दिया इस्तीफा। इंतजार कीजिये अभी कितनी टूट होगी। ‘तेजस्वी तो बच्चा है ना जी!’

सरफराज पर क्या था आरोप?

सरफराज आलम पर 17 जनवरी 2016 में आरोप लगा था कि डिब्रूगढ़-नई दिल्ली राजधानी ट्रेन में सफर के दौरान उन्होंने एक दंपत्ति के साथ दुर्व्यवहार किया था। उनपर नशे की हालत में दंपत्ति के साथ दुर्व्यवहार का आरोप लगा था। जिसके बाद उनकी गिरफ्तारी भी हुई थी। पूछताछ में शुरुआत में सरफराज ने ट्रेन में यात्री की बात नहीं मानी थी। लेकिन बाद में उन्होंने ये स्वीकार किया था कि उन्होंने उक्त तारीख को डिब्रूगढ़-नई दिल्ली राजधानी ट्रेन में सफर की थी। लेकिन उन्होंने दंपत्ति के साथ छेड़छाड़ के आरोप से इनकार किया था। उनपर लगे आरोपों के बाद जेडीयू ने उन्हें निलंबित कर दिया था।

तब RJD ने सरफराज पर क्या कहा था?

जिस सरफराज को आरजेडी अररिया में होनेवाले लोकसभा उप चुनाव में अपना उम्मीदवार बनाने जा रही है उनके बारे में एक वक्त में आरजेडी ने ही मोर्चा खोल दिया था। उस वक्त आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव ने कहा था अगर विधायक सरफराज जांच में दोषी पाए जाते हैं तो जेडीयू को उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए। वहीं लालू के बड़े बेटे तेज प्रताप ने कहा था ऐसे व्यक्ति को सलाखों के पीछे भेज देना चाहिए।

वही सरफराज अब आरजेडी के टिकट पर अररिया लोकसभा उप चुनाव लड़ रहे हैं। सरफराज पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वर्गीय तस्लीमुद्दीन के बेटे हैं। तस्लीमुद्दीन के दो बेटों के बीच भी उनकी राजनीतिक विरासत को लेकर खींचतान चल रही है। बड़े बेटे मो. मोकिम भी टिकट की दावेदारी पेश कर रहे थे। लेकिन यहां पर बाजी तस्लीमुद्दीन के छोटे बेदे सरफराज आलम के हाथ रही।

Loading...