sangeet some stop nirbhaya yatra for 15 days

15 दिन का अल्टीमेटम देकर संगीत सोम ने कैराना में ‘निर्भय यात्रा’ रोकी

15 दिन का अल्टीमेटम देकर संगीत सोम ने कैराना में ‘निर्भय यात्रा’ रोकी

मनाही के बावजूद निर्भय यात्रा पर निकले संगीत सोम कैराना की तरफ कुछ कदम ही बढे थे कि उन्हें रोक दिया गया। दरअसल BJP की निर्भय यात्रा और समाजवादी पार्टी की सदभावना यात्रा को देखते हुए शुरुआत से ही भारी तादाद में सुरक्षाबलों की तैनाती की गई थी। एहतियातन इलाके में धारा 144 भी लगा दिया गया था। लेकिन उसके बावजूद BJPविधायक संगीत सोम ने अपनी निर्भय यात्रा शुरु की। लेकिन कुछ दूर चलने पर उनसे ये कहा गया की इलाके में धारा 144 लागू है और वो आगे नहीं जा सकते तो उन्होंने अपनी यात्रा रोक दी। संगीत सोम ने कहा की ‘वरिष्ठ अधिकारियों ने हमें रोका है। ये कह रहे हैं धारा 144 लागू है। इसलिए हम भी यात्रा रोक रहे हैं।‘ अखिलेश सरकार को अल्टीमेटम देते हुए संगीत सोम ने कहा की ‘राज्य सरकार 15 दिनों के भीतर पलायन किय परिवारों को सुरक्षित वापस लाए। वरना बड़े स्तर पर प्रदर्शन होगा।

एक तरफ कैराना सियासी मार्च का अड्डा बना रहा तो दूसरी तरफ यूपी सरकार में मंत्री शिवपाल यादव ने कहा की कैराना से कोई पलायन हुआ ही नहीं है। बीजेपी पर आरोप लगाते हुए शिवपाल यादव ने कहा कि बीजेपी माहौल खराब करना चाहती है। आगे उन्होंने कहा की चुनाव को देखते हुए ये लोग माहौल को खराब करना चाहते हैं। जो कोई भी दंगा भड़काने की कोशिश करेगा उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी ।

वहीं प्रदेश BJP अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य ने कहा की कैराना की जांच रिपोर्ट में क्या है और क्या नहीं इस बारे में जानकारी नहीं है। लेकिन इतना तय है कि पलायन का कारण कानून व्यवस्था की बदहाली और एक वर्ग विशेष का आतंक भी है। सरकार पर दबाव बनाने का आरोप लगाते हुए स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा की दबाव की वजह से स्थानीय प्रशासन कैराना में जरुरी कार्रवाई नहीं कर पा रहा है।

Loading...

Leave a Reply