sandeep-kumar-leader-aam-admi-party

पूर्ण नग्न होने के बाद AAP के संदीप कुमार कह रहे हैं ‘मैं VIDEO में हूं ही नहीं’

पूर्ण नग्न होने के बाद AAP के संदीप कुमार कह रहे हैं ‘मैं VIDEO में हूं ही नहीं’

दिल्ली: आप बेशर्म तो इतने हैं कि सबकुछ जानकर और देखकर भी उसपर माफी मांगने के बजाय उसके वजूद से ही इनकार कर रहे हैं। हम आपके उस सेक्स स्कैंडल के वीडियो को सत्यता का सर्टिफिकेट नहीं दे रहे हैं। लेकिन हम आपके (संदीप कुमार) गुनाहों में शामिल होने की संभावनाओं से इनकार भी नहीं कर रहे हैं।

आम आदमी पार्टी के विधायक और पूर्व महिला बाल कल्याण मंत्री संदीप कुमार जब हर तरफ से घिर गए तो उन्होंने दलित को अपने बचाव का कवच बन लिया। सारी बेशर्मी का त्याग कर AAP विधायक संदीप कुमार गुरुवार को कह रहे थे ‘मैं दलित ही नहीं महादलित हूं बाल्मीकि समाज से आता हूं घर में अंबेडकर की मूर्ति लगाई है इसलिए मेरे खिलाफ ये साजिश हो गई।‘

AAP विधायक संदीप कुमार की इस बेशर्म करतूत के बाद पार्टी आईना देखने से झिझक रही है। क्योंकि जिन मूल्यों और आदर्शों को AAP ने अपना सिद्धांत बनाया था उसे संदीप कुमार ने 6/3 साईज के बिस्तर पर मसल कर रख दिया। अपनी शारीरिक हवस को शांत करने के लिए संदीप कुमार ने दिल्ली के रामलीला मैदान में ईश्वर की जो शपथ ली थी जनता की सेवा के लिए उसका भी मान नहीं रखा। सही ही तो कहा गया है संकल्प लेना आसान है लेकिन संकल्प की उस पगडंडी पर बगैर लड़खड़ाए चलते रहना बेहद मुश्किल है।

दिल्ली पुलिस के क्राइम ब्रांच के स्पेशल कमिश्नर ताज हसन ने कहा है कि इस केस के सभी पहलुओं की जांच होगी। केस की जांच के लिए स्पेशल टीम का गठन किया जाएगा। सीएम अरविंद केजरीवाल और डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया के खिलाफ भी शिकायत मिली है। उसकी भी जांच होगी।

संदीप कुमार सीडी में अपनी मौजूदगी से इनकार कर रहे हैं। लेकिन 9 मिनट के सीडी पर 900 कोस तक मचे हंगामे की उन्होंने कहीं कोई शिकायत क्यों नहीं की। संदीप कुमार तो विधायक हैं एक आम इंसान के ऊपर भी अगर इस तरह के आरोप लगते हैं तो वो सीधा कोतवाली पहुंचता है अपने सम्मान की रक्षा करने। विधायक संदीप कुमार पर केवल आरोप नहीं लगे बेशर्मी की पूरी कहानी वीडियो की शक्ल में दर्ज हो गई। टीवी चैनल से अखबारों तक में उसकी चर्चा है बावजूद इसके विधायक और कुकर्म कर के अपनी कुर्सी गंवा चुके संदीप कुमार ने अबतक इसकी शिकायत क्यों नहीं की ?

जब खुद ही गुनहगार हों और खुद ही पूरे कुकर्म की स्क्रिप्ट तैयार की हो तो शिकायत करते भी तो किससे। जाहिर है जुबान से भले ही संदीप कुमार खुद को बेगुनाह बता रहे थे लेकिन मन का अपराध बोध उन्हें खुद को निर्दोष साबित नहीं होने दे रहा। शायद यही वजह है कि AAP के विधायक संदीप कुमार ने इतनी फजीहत के बाद भी कहीं शिकायत नहीं की है। और यही वजह है कि शिकायत मिलने के आधे घंटे के भीतर संदीप कुमार की कुर्सी छीन ली गई।

Loading...

Leave a Reply