जोधपुर की अदालत से आर्म्स एक्ट में सलमान खान बरी हुए




नई दिल्ली: 18 साल से चल रहे अवैध आर्म्स एक्ट में सलमान खान को बरी कर दिया गया है। जोधपुर की अदालत ने इस मामले में आज फैसला सुनाया। कोर्ट में सलमान के आने के साथ ही जज ने कहा कि आर्म्स एक्ट में आप बरी किये जाते हैं।

सलमान पर आरोप था कि उन्होंने हिरणों के शिकार में जिन पिस्टल और राइफल का इस्तेमाल किया उसके लाइसेंस की तारीख खत्म हो चुकी थी। इसी वजह से सलमान के खिलाफ गैर कानूनी तरीके से हथियार रखने और उनसे शिकार करने का मामला चल रहा था। सलमान पर 18 साल से ये मामला चल रहा है।

सलमान के पिस्टल और राइफल के लाइसेंस की आखिरी तारीख 22 सितंबर 1998 थी। जबकि सलमान इसके 8 दन बाद यानि 1 अक्टूबर को सलमान पर शिकार करने का आरोप लगा। 15 अक्टूबर को सलमान के कहने पर पिस्टल और राइफल को मुंबई से लाकर जोधपुर पुलिस के सामने पेश किया गया। यानि 22 सितंबर 1998 से 15 अक्टूबर 1998 के बीच हथियार की चोरी या गुम होने की रिपोर्ट कहीं नहीं लिखवाई गई। यानि यही माना गया कि हथियार सलमान के पास ही थे। या अगर किसी दूसरे के पास भी थे तो भी उसके बारे में सलमान को जनकारी थी।

1998 में सलमान खान पर फिल्म ‘हम साथ साथ हैं’ की शूटिंग के दौरान 3 अलग अलग राज्यों में हिरण के शिकार का आरोप लगा। जोधपुर के पास भवाद गांव में 2 काले हिरण, घोड़ा फार्म में 1 काले हिरण और कंकाणी गांव में 2 काले हिरणों का शिकार किया गया था।

भवाद और घोड़ा फार्म में हुए शिकार के मामले में लोअर कोर्ट ने सलमान को 1 साल और 5 साल की सजा सुनाई थी। लेकिन बाद में हाईकोर्ट ने इन दोनों मामलों से सलमान को बरी कर दिया। इस फैसले को राज्य सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है।

इससे जुड़ा एक और मामला कंकणी गांव का है। कंकणी गांव में जिस वक्त हिरणों का शिकार हुआ सलमान के साथ सैफ अली खान, सोनाली बेंद्रे, तब्बू और नीलम भी मौजूद थीं। सलमान पर हिरण को गोली मारने का और सैफ समेत तीनों एक्ट्रेस पर उन्हें उकसाने का आरोप है। इस मामले में 25 जनवरी को सुनवाई होगी।

Loading...

Leave a Reply