sachin-tendulkar-and-manohar-parrikar

मसूरी में दोस्त का अवैध निर्माण बचाने में जुटे Sachin ! रक्षा मंत्री से मांगी मदद

मसूरी में दोस्त का अवैध निर्माण बचाने में जुटे Sachin ! रक्षा मंत्री से मांगी मदद

पूर्व क्रिकेटर और राज्य सभा सांसद Sachin तेंदुलकर ने रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर से मदद की अपील की है। इसकी वजह ये है कि मसूरी के लैंडोर में एक हॉलीडे डेस्टिनेशन है। बताया जा रहा है कि यहां बनाया गया कंस्ट्रक्शन DRDO के नो कंस्ट्रक्शन जोन में आता है। लेकिन उसी जगह पर Sachin के दोस्त संजय नारंग ने इमारत खड़ी कर ली। अपने दोस्त के इसी कथित गैरकानूनी कंस्ट्रक्शन को विवाद से बचाने के लिए Sachin ने मनोहर पर्रिकर से मुलाकात की। रक्षा मंत्री ने Sachin की बात तो सुनी लेकिन अभी इसपर ऐसा कोई भरोसा नहीं दिया गया है जो Sachin के लिए खुश होने की वजह हो।
उस हॉलीडे डेस्टीनेशन पर Sachin अक्सर जाया करते हैं। इस मामले की गंभीरता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि Sachin पिछले साल ऑस्ट्रेलिया की ट्रिप छोटी कर दी। ताकि इस मामले पर पर्रिकर से मुलाकात कर सकें।

जिस प्रॉपर्टी में Sachin के दोस्त संजय नारंग की हिस्सेदारी है और जिसे लेकर Sachin रक्षा मंत्री से मुलाकत करने के लिए बेकरार थे वह लैंडोर कैंट एरिया में है। आरोप ये है कि इस प्रॉपर्टी के निर्माण में इंस्ट्टीट्यूच ऑफ टेक्नोलॉजी मैनेजमेंट के आसपास के 50 फुट के दायरे में कोई कंस्ट्रक्शन के न होने के नियम की अनदेखी की गई। यह इंस्टीट्यूट DRDO का है।

अधिकारियों के मुताबिक रक्षा मंत्री DRDO से जुड़े इस मामले में दखल नहीं देना चाहते। एक अंग्रेजी अखबार में छपी रिपोर्ट के मुताबिक Sachin ने अखबार की तरफ से किये गए सवालों के भी जवाब नहीं दिये। वहीं इंस्टीट्यूट का कहना है कि नारंग (Sachin के दोस्त) ने संस्थान के आसपास के प्रतिबंधित निर्माण क्षेत्र में टेनिस कोर्ट्स बनाने की इजाजत मांगी थी, लेकिन वहां पर बिल्डिंग बना ली गई।

इस मामले पर Sachin की तरह नारंग भी अखबार के सवालों पर खामोश रहे। लेकिन नारंग की तरफ से उनकी प्रतिनिधि ने कहा कि जिस जगह निर्माण कराई गई है वो जगह प्रतिबंधित क्षेत्र से बाहर है। और DRDO के इंस्टीट्यूट ने इस मामले में गलत रुख अपनाया है।

इस मामले में पिछले महीने सीवीसी और सीबीआई के पास भी शिकायत की गई है की लैंडोर कैंट एरिया में गलत तरीके से कमर्शल गतिविधियां हो रही हैं।

Loading...

Leave a Reply