Sabzar-Ahmad-Bhat

जब सेना ने हिजबुल आंतकी सबजार को घेरा तो आतंकियों ने मोबाइल से उसे बचाने की कोशिश की

जब सेना ने हिजबुल आंतकी सबजार को घेरा तो आतंकियों ने मोबाइल से उसे बचाने की कोशिश की

नई दिल्ली:  जम्मू-कश्मीर में त्राल के सोइमोह गांव में सेना को शनिवार को बड़ी कामयाबी मिली। जिसमें हिजबुल के टॉप कमांडर और बुरहान वानी के उत्तराधिकारी सबजार बट को मार गिराया। त्राल में सबजार जिस घर में छिपा था उसमें दो और आतंकी थे। सेना ने उन तीनों को मार गिराया। आतंकियों ने सबजार को बचाने की काफी कोशिश की थी। सबजार को बचाने के लिए आतंकयों ने मोबाइल फोन का इस्तेमाल किया था।

सबजार समेत तीनों आतंकियों को मारने के बाद जब उनकी तलाशी ली गई तो उसके पास से एक मोबाइल फोन मिला। जिसमें एक मैसेज लिखा था। आतंकी ने लिखा था सबजार भाई त्राल में फंस गए हैं। सभी नौजवान त्राल पहुंचे और अपने प्यारे मुजाहिद भाई को सुरक्षित रास्ता देकर बचाएं। इस मैसेज में आगे लिखा था हमें विपिन रावत को दिखा देना है कि कश्मीर का हर नौजवान मुजाहिद है और वो अपनी मातृभूमि कश्मीर के लिए अपनी जान दे सकता है। इस मैसेज को सभी ग्रुप में फॉरवर्ड करें।

लेकिन पत्थरबाज बिजबुल का टॉप कमांडर सब्जार को बचाने त्राल पहुंच पाते उससे पहले ही सुरक्षाबलों ने उसका काम तमाम कर दिया।

आतंकियों ने ये मैसेज उन पत्थरबाजों को भेजा था जो घाटी में सुरक्षाबलों पर ऑपरेशन के दौरान पत्थर फेंकने का काम करते हैं। पत्थरबाजों के उस ग्रुप को आतंकियों और पाकिस्तान सरकार की तरफ से फंडिंग होती है। जिसके बदले वो सेना पर पत्थर फेंकते हैं। पहले भी कई बार जब सेना और आतंकियों के बीच मुठभेड़ चल रहा होता है तो ये पत्थरबाज सेना के ऊपर पत्थर फेंकते हैं। ताकि सेना के बीच घिरे आतंकी मौके देखकर वहां से निकल भागें।

Loading...

Leave a Reply