200 रुसी सैनिक ज्वाइंट ड्रिल में शामिल होने पाकिस्तान पहुंचे, रद्द नहीं हुआ संयुक्त अभ्यास

दिल्ली: उरी में हुए आतंकी हमले और 18 जवानों के शहीद होने के बाद ये खबर आई थी कि रुस ने पाकिस्तान के साथ होने वाले संयुक्त सैन्य अभ्यास को रदद् कर दिया है। लेकिन वो खबर गलत साबित हुई। क्योंकि रूस के 200 सैनिक पाकिस्तान के साथ संयुक्त सैन्य अभ्यास में शामिल होने पाकिस्तान पहुंच चुके हैं। दोनों देशों के बीच शनिवार से संयुक्त सैन्य अभ्यास होगा।

Russian-troops-for-first-ever-joint-drillsपाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता ने इसकी जानकारी दी। पाकिस्तानी सुरक्षाबलों के मीडिया विंग के इंटर सर्विस पब्लिक रिलेशंस के डीजी लेफ्टिनेंट जनरल आसिम सलीम बाजवा ने इसपर ट्वीट किया ‘रूसी सेना की एक टुकड़ी पाकिस्तान और रूस की पहली ज्वाइंट ड्रिल के लिए पहुंची है। दोनों सेनाओं के बीच ये संयुक्त सैन्य अभ्यास दो हफ्ते तक चलेगा। इसे फ्रेंडशिप 2016 नाम दिया गया है। ये ड्रिल 24 सितंबर से 10 अक्टूबर तक चलेगा।‘

हलांकी दोनों देशों की सेनाओं ने इस संयुक्त अभ्यास के बारे में ज्यादा कुछ नहीं बताया है। लेकिन कहा जा रहा है कि वे सामरिक दृष्टिकोण से अति महत्वपूर्ण पर्वतीय इलाकों में भी अभ्यास करेंगे। यह संयुक्त अभ्यास पाकिस्तान और रूस के बीच बढ़ते आपसी सैनिक सहयोग की तरफ भी इशारा करता है। एक तरह से भारत की उन कोशिशों को भी झटका है जिसमें पाकिस्तान को अंतरराष्ट्रीय मंच पर अलग –थलग करने के लिए कूटनीतिक कोशिश की जा रही है।

Loading...