Rahul-Gandhi

‘RSS ने गांधी को मारा‘ कहकर फंस गए राहुल, SC से भी राहत नहीं

‘RSS ने गांधी को मारा‘ कहकर फंस गए राहुल, SC से भी राहत नहीं

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने महात्मा गांधी की हत्या के लिए RSS को जिम्मेदार ठहराया था। इसपर सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि राहुल गांधी को इस तरह के बयान के लिए माफी मांगनी चाहिए। और वो माफी नहीं मांगना चाहते तो उन्हें ट्रायल का सामना करना चाहिए।

राहुल गांधी के खिलाफ दायर मानहानी के केस मे सुनावाई के दौरान अदालत ने ये टिप्पणी की। साथ ही कोर्ट ने राहुल से पूछा कि ‘आपने क्यों इस तरह का बयान दिया और RSS से जुड़े हर शख्स पर सवाल खड़े किये। आप किसी संगठन पर इस तरह से थोक में आक्षेप नहीं लगा सकते।‘ इसपर राहुल गांधी की तरफ पेश वकील ने कहा था कि ये ‘ऐतिहासिक तथ्य है और सरकारी रिकॉर्ड में भी है।‘ इसपर सुप्रीम कोर्ट ने कहा ‘राहुल गांधी को यह साबित करना चाहिए कि RSS के खिलाफ उनके बयान में जनहित से जुड़ा क्या है। लिहाजा ये मामला ट्रायल के योग्य है।‘

इसके बाद राहुल गांधी की तरफ से मामले को दो हफ्ते के लिए स्थगित करने की मांग की गई थी। लेकिन वो मांग भी खारिज हो गई। कोर्ट ने मामले की अगली सुनवाई के लिए 27 जुलाई की तारीख तय की है। राहुल के वकील ने दो हफ्ते का वक्त मांगते हुए कहा था कि उनके पास वक्त की कमी है। इसपर सुप्रीम कोर्ट की तरफ से कहा गया सुनवाई स्थगित करने के लिए ये ठोस तर्क नहीं है।

दरअसल मार्च 2014 में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने ठाणे में एक सभा में कहा था ‘RSS के लोगों ने गांधी जी की हत्या कर दी थी और आज उनके लोग (BJP) उनकी बात करते हैं।‘ जिसके बाद राजेश महादेव कुंटे नाम के एक शख्स ने महाराष्ट्र के भिवंडी में आपराधिक मानहानि का मुकदमा दर्ज करवाया है। उसी एफआईआर को राहुल गांधी रदद् करवाना चाहते हैं। उसी के लिए सुप्रीम कोर्ट में राहुल गांधी की तरफ से अर्जी लगाई गई थी।

Loading...

Leave a Reply