संघ में तैयार हो रही है एंटी बीजेपी सोच ?

दिल्ली: संघ ने गोवा विभाग प्रमुख को हटा दिया है। सुभाष विलिंगकर पर संघ में रहते हुए बीजेपी के खिलाफ विचार फैलाने का आरोप लगा था। जिसके बाद इसकी शिकायत की गई थी। जांच में शिकायत को सही पाया गया। जिसके बाद गोवा विभाग प्रमुख सुभाष विलिंगकर को हटा दिया गया है। सुभाष अलग पार्टी बनाने की तैयारी कर रहे थे। उनका मकसद बीजेपी के खिलाफ पार्टी तैयार कर चुनाव लड़ने का था।

पिछले दिनों जब बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह बीजेपी की रैली को संबोधित करने गोवा गए थे तब वेलिंगकर की अगुवाई में संघ कार्यकर्ताओं ने उन्हें काले झंडे दिखाए थे। अमित शाह ने भोपाल में संघ के वरिष्ठ नेताओं की बैठक में वेलिंगकर की शिकायत की थी। उस बैठक में संघ नेता भैयाजी जोशी और कृष्ण गोपाल मौजूद थे। बीजेपी के गोवा चुनाव प्रभारी ने भी वेलिंगकर की शिकायत की थी।

जिसके बाद वेलिंगकर से सभी जिम्मेदारियां वापस ले ली गई हैं। नियम के मुताबिक संघ से किसी को निकाला नहीं जाता। क्योंकि संघ में कोई सदस्यता नहीं होती। इसलिए सिर्फ जिम्मेदारियों से हटाया जाता है। इसलिए वेलिंगकर से भी संघ ने जिम्मेदारियां वापस ली हैं।

सुभाष विलिंगकर पर हुई कार्रवाई के बाद ये चर्चा भी जोर पकड़ रही है कि क्या संघ के भीतर बीजेपी को लेकर असंतोष अपनी जगह बना रही है, और सुभाष विलिंगकर उसी असंतोष को एक दिशा दे रहे थे। जिसकी मंजिल बीजेपी के खिलाफ पार्टी खड़ी कर गोवा में चुनाव लड़ना था। एक बड़ा सवाल ये भी है कि क्या सुभाष विलिंगकर को हटाने भर से संघ ने उन तमाम विचारों पर विजय पा लिया है जो बीजेपी के खिलाफ सुभाष का साथ देने की तैयारी कर रहे थे।

चुकी मामला गोवा से जुड़ा है इसलिए संघ और बीजेपी ज्यादा फिक्रमंद भी है। क्योंकि आम आदमी पार्टी के संयोजक और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल पहले ही एलान कर चुके हैं कि वो गोवा विधानसभा चुनाव लड़ेंगे। ऐसे में सुभाष की बीजेपी के खिलाफ खड़ा होने की तैयारी और फिर संघ की तरफ से उनपर हुई कार्रवाई आखिर आनेवाले दिनों में क्या रंग लेगी इस बारे में मौजूदा वक्त में कुछ कहा नहीं जा सकता।

दूसरी तरफ आम आदमी पार्टी की अपनी सियासत है। जिसमें वो बीजेपी और कांग्रेस से परहेज भी करती है और ये भी कहती है कि बीजेपी कांग्रेस में जितने इमानदार लोग हैं वो सब पार्टी छोड़कर उनके पास चले आएं। हलांकी अभी इस बारे में कहना काफी जल्दबाजी होगी कि क्या आम आदमी पार्टी सुभाष विलिंगकर को इमानदार मानती है। और अगर मानती है तो क्या उन्हें अपना बनाने की कोशिश करेगी। क्योंकि गोवा में ग्राउंड लेवल से जुड़े एक नेता की जरुरत AAP को भी है।

Loading...

Leave a Reply