अमित शाह के बेटे जय शाह पर लगे आरोपों पर RSS ने दिया बयान

नई दिल्ली:  भोपाल में चल रही RSS की तीन दिनों की अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल की बैठक से वो बयान निकलकर सामने आया है जिसका इंतजार कई लोगों को था। संघ के सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले ने कहा अमित शाह के बेटे जय शाह पर जिस आरोप की जांच की मांग की जा रही है पहले ये साबित होना चाहिए कि आरोप गंभीर हैं या नहीं। अगर आरोप गंभीर हैं तो उसकी जांच होनी चाहिए। उन्होंने कहा प्राइमाफेसी अगर कोई मामला बनता है तो उसकी जांच होनी चाहिए।

दरअसल एक वेबसाइट ने आमित शाह के बेटे जय शाह की कंपनी को लेकर रिपोर्ट छापी थी। जिसमें दावा किया गया था कि जय शाह की कंपनी का टर्नओवर एक ही साल में 50,000 से बढ़कर 80 करोड़ हो गया। वेबसाइट की ये रिपोर्ट सामने आने के बाद बीजेपी ने इसे फर्जी करार दिया था। जबकि जय शाह ने इसे छवि खराब करने की साजिश करार दिया था। इस मामले में जय शाह ने वेबसाइट पर 100 करोड़ रुपये की मानहानि का केस भी दर्ज किया है।

भोपाल में संघ की अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल से इतर दत्तात्रेय होसबोले से जब जय शाह के मामले पर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा किसी पर भी भ्रष्टाचार के जो आरोप होते हैं उसपर जो आवश्यक जांच है वो हो। उस हिसाब से जो कार्रवाई होती है, वो हो। उन्होंने आगे कहा आरोप प्रथम दृष्टया साबित होने के बाद ही जांच कर सकते हैं।

लेकिन जब उनसे सवाल किया गया कि इस मामले में तो जांच करने से ही मना कर दिया गया तो उन्होंने कहा जांच करने के लिए भी प्रथमदृष्टया सबूत होने चाहिए। उनसे जब पूछा गया कि क्या आपको नहीं लगता है कि प्रथमदृष्टया मामला बनता है तो उन्होंने कहा ये आरोप लगाने वाले सिद्ध करें। उन्होंने कहा कि आरोप लगाने वाले सिद्ध करें कि आरोप गंभीर हैं।

इस मामले के सामने आने के बाद केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल जय शाह के बचाव में सामने आए थे। जिसपर वरिष्ठ बीजेपी नेता यशवंत सिन्हा ने कहा था पीयूष गोयल भारत सरकार के मंत्री हैं जय शाह की कंपनी के सीए नहीं। इस मामले में भारत सरकार कंपनी के प्रवक्ता की तरह काम कर रही है।

Loading...