रॉबर्ट वाड्रा पर जमींन खरीद के मामले को लेकर एफआईआर दर्ज

नई दिल्ली:कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के जीजा रॉबर्ट वाड्रा पर जमींन खरीद के मामले को लेकर एफआईआर दर्ज किया गया है । उनपर आरोप है कि नियमो को तोड़ते हुए उन्हें  हरियाणा में उन्हें करोड़ों का फायदा पहुंचाया गया। साल 2014 ने जब बीजेपी के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने अपनी रैलियों में उनका नाम लेना शुरू किया।तभी से रॉबर्ट वाड्रा चर्चा में तब आए।

एक तरफ रॉबर्ट वाड्रा के चर्चा से मोदी तालियां बटोर रहे थे वही तभी रॉबर्ट वाड्रा की कंपनी पर आरोप लगे थे कि कंपनी द्वारा सरकारी ताकतों का फायदा उठाते हुए लैंड डील में अनियमितता बरती जा रही है। वाड्रा के जमीन खरीद मामले को बीजेपी द्वारा 2014 के लोकसभा चुनाव और हरियाणा 2015 विधानसभा चुनाव में मुद्दा भी बनाया था।

बता दें कि उनपर आरोप है कि उनके स्काईलाइट हॉस्पिटैलिटी प्राइवेट लिमिटेड पर गुरुग्राम के सेक्टर 83 में 3.5 एकड़ जमीन ओंकरेश्वर प्रॉपर्टीज से वर्ष 2008 में 7.50 करोड़ रुपए में खरीदने का आरोप है।और इस खरीदारी के वक्त राज्य के मुख्यमंत्री  भूपेंद्र सिंह हुड्डा थे। और उनके साथ ही उनके पास आवास एवं शहरी नियोजन विभाग भी था।

हालांकि इस मुद्दे को सबसे पहले अरविंद केजरीवाल ने 2012 में जनता के सामने लाया था।उन्होंने वाड्रा पर दिल्ली और उसके आसपास में 31 संपत्तियां खरीदने का आरोप लगाया था।और साडी सम्पति डीएलएफ के असुरक्षित ऋणों का उपयोग करते हुए मार्केट रेट से काफी कीमत में खरीदी गईं।

हरियाणा में कांग्रेस के मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा पर आरोप लगा था कि उन्होंने वाड्रा को शिकोहपुर गांव के 3.5 एकड़ प्लॉट 7.5 करोड़ में खरीदने और उसको डीएलएफ को 58 करोड़ में बेचकर फायदा पहुचाया।लेकिन वाड्रा ने हमेशा अपने ऊपर लगे आरोपों से इंकार किया।और पूर्व मुख्यमंत्री भूपिंदर सिंह हुड्डा ने भी भ्रष्टाचार के आरोपों से इंकार कर दिया था।

(Visited 13 times, 1 visits today)
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *