महिला हॉकी टीम को रियो तक पहुंचाने वाली रितु रानी टीम से बहर!

भारतीय महिला हॉकी टीम की कप्तान रितु रानी को खराब प्रदर्शन और उनके आचरण की शिकायत मिलने के बाद रियो जानेवाली ओलंपिक टीम से बाहर कर दिया गया है। हलांकी इसपर आधिकारिक फैसला आना अभी बाकी है। 16 खिलाड़ियों के दल का एलान अगले 12 जुलाई तक हो जाएगा। इस वक्त महिला हॉकी टीम का कैंप बेंगलुरु में चल रहा है। और टीम मैनेजमेंट के एक वरिष्ठ सदस्य ने कहा कि रितु राष्ट्रीय शिविर छोड़कर जा चुकी है।

मैनेजमेंट से जुड़े वरिष्ठ सदस्य के मुताबिक ‘यह सही है कि रितु ओलंपिक टीम में नहीं है। उसे बाहर करने के दो कारण हैं। पहला उनका प्रदर्शन और दूसरा उनका आचरण। अधिकारी का कहना है कि प्रदर्शन और अपने आचरण में सुधार लाने के लिए रितु से बार बार कहा गया लेकिन उसमें कोई बदलाव नहीं हुआ। इसी वजह से रितु के रियो ओलंपिक में जाने की संभावना खत्म हो गई।‘

महिला हॉकी टीम में रितु की मौजूदगी इसलिए खास है क्योंकि 1980 के बाद महिला हॉकी टीम ने रितु की कप्तानी में ही रियो ओलंपिक के लिए क्वालिफाई किया था। 36 साल बाद महिला हॉकी को ओलंपिक में खेलने का मौका मिला था। 24 साल की रितु एक दशक से ज्यादा वक्त से भारतीय महिला हॉकी से जुड़ी रही हैं। रितु मिडफील्ड की अहम खिलाड़ी रही है।

रितु के जाने के बाद अब कप्तानी के लिए रानी रामपाल का नाम चर्चा में है। हलांकी हॉकी इंडिया के अध्यक्ष नरेंद्र बत्रा रितु को हटाने के पीछे उसका अपरिपक्व बर्ताव बता रहे हैं। बत्रा ने कहा कि टीम प्रबंधन ने टीम की कप्तान और उप कप्तान के बारे में मुझे अपनी सिफारिश दी है। 11 जुलाई को हॉकी इंडिया के कार्यकारी बोर्ड की बैठक होगी उसी दौरान इसपर फैसला लिया जाएगा।
-Rio Olympics, Women Hockey Team, Ritu Rani

Loading...

Leave a Reply