anil-baijal-and-arvind-kejriwal

AAP से 30 दिन में वसूले जाएं 97 करोड़ रुपये- उपराज्यपाल

AAP से 30 दिन में वसूले जाएं 97 करोड़ रुपये- उपराज्यपाल

नई दिल्ली: दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने आम आदमी पार्टी से 97 करोड़ रुपये वसूल करने के आदेश दिये हैं। सूत्रों के मुताबिक दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने चीफ सेक्रेटरी को ये आदेश दिया है। आम आदमी पार्टी पर आरोप है कि दिल्ली सरकार ने सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइन को नजरअंदाज कर सीएम अरविंद केजरीवाल और AAP की इमेज चमकाने के लिए विज्ञापन दिये। जिसके बदले 97 करोड़ का भुगतान किया गया।

उप राज्यपाल ने चीफ स्क्रेटरी एमएम कुट्टी को दिये आदेश में कहा है कि सरकार के विज्ञापन देने की प्रोसेस-खर्च की जांच करें और जिम्मेदारियां तय की जाएं। AAP से ये वसूली 30 दिन में की जाए। दिल्ली सरकार 42 करोड़ का पेमेंट कर चुकी है। इसकी रिकवरी हो और एड एजेंसी को दिये जाने वाले बाकी 55 करोड़ का पेमेंट AAP खुद करें।

ये भी पढें :

– लखनऊ में बोले योगी ‘योग सांप्रदायिक नहीं, सूर्य नमस्कार और नमाज में काफी समानता’
– 1 अप्रैल से नहीं बिकेंगी BS-3 गाड़ियां, 8 लाख नई गाड़ियां अब कूड़ा बन जाएगी

इससे पहले 10 मार्च को दिल्ली विधानसभा में रखी गई CAG रिपोर्ट में भी सामने आया था कि केजरीवाल सरकार ने 29 करोड़ के विज्ञापन दिल्ली के बाहर दिये। जो उनकी सीमा में नहीं आते। 24 करोड़ का विज्ञापन सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइन का उल्लंघन कर दिया गया। लेकिन केजरीवाल सरकार ने इस रिपोर्ट को खारिज कर दिया था।

AAP सरकार के इस विज्ञापन पर कांग्रेस ने भी सवाल उठाए थे। कांग्रेस ने कहा था कि दिल्ली सरकार जनता के पैसे को विज्ञापन में बर्बाद कर रही है। इसकी शिकायत एक कमेटी में भी की गई थी। इसपर कमेटी ने कहा था कि 13 मई 2015 को सुप्रीम कोर्टी की गाइडलाइन जारी होने के बाद के सभी भुगतान AAP को खुद करना चाहिए।

ये भी पढें :

– JDU नेता के इस ट्वीट ने नीतीश सरकार में मचा दी खलबली, अब क्या करेंगे नीतीश

दिल्ली सरकार और उप राज्यपाल अनिल बैजल के बीच टकराव का ये दूसरा मुद्दा है। इससे पहले 9 मार्च को उप राज्यपाल बैजल ने पूर्व सैनिक राम किशन ग्रेवाल के परिवार को 1 करोड़ रुपये देने के केजरीवाल सरकार के प्रस्ताव को खारिज करते हुए फाइल लौटा दी थी। उसके बाद अब गलत तरिके से विज्ञापन देने के मामले पर 97 करोड़ वसूलने के आदेश के बाद फिर टकराव के आसार बन रहे हैं। वैसे पूर्व राज्यपाल नजीब जंग के साथ केजरीवाल सरकार के टकराव की फेहरिस्त काफी लंबी रही है।

Loading...

Leave a Reply