यूपी में हो गई चचा शिवपाल और भतीजे अखिलेश में सुलह

लखनऊ/यूपी: सार्वजनिक मंच पर सपा सुप्रीमो मुलायम की सार्वजनिक फटकार के बाद ये बात सामने आई थी कि यादव परिवार में सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है। मुलायम ने कहा था कि अखिलेश के मंत्री पार्टी पर बोझ हो गए हैं। अपने अनुज शिवपाल यादव के बारे में बोलते हुए मुलायम ने कहा था शिवपाल के खिलाफ साजिश की जा रही है। उसने तीन बार इस्तीफे की बात कही। अगर वो पार्टी छोड़ दे तो मुश्किल हो जाएगी।

जिस मंच से मुलायम ने ये फटकार लगाई वहीं बगल में यूपी के सीएम और मुलायम के पुत्र अखिलेश यादव भी बैठे थे। वो भी सबकुछ सुन रहे थे, समझ रहे थे। उनके मन में भी चाचा शिवपाल को लेकर विचारों का उतार चढ़ाव चल रहा था। सपा मुखिया मुलायम पर अखिलेश ने कहा तो कुछ नहीं लेकिन नेताजी का इशारा वो जरुर समझ रहे थे। ये सबकुछ हुआ सोमवार को। अब उसके अगले दिन मंगलवार की बात करते हैं।

मंगलवार को मुलायम के भाई और अखिलेश यादव के चाचा शिवपाल यादव ने इस झगड़े पर अपनी बात कही। उन्होंने कहा कि अखिलेश के साथ कोई झगड़ा नहीं है। साथ ही उन्होंने कहा कि उनकी नाराजगी किसी खास मुद्दे को लेकर नहीं है। सपा के कुछ नेता और मंत्री जमीन पर अवैध कब्जा कर रहे हैं। कहीं कहीं नेता अवैध शराब का धंधा करते हैं। इसकी शिकायत पर अफसर भी नहीं सुनते। जिसका वो विरोध करते रहे हैं और आगे भी करते रहेंगे। जब उनसे कौमी एकता दल का सपा में विलय पर सवाल पूछे गए तो उनका जवाब था कि कौमी एकता दल पर मुलायम फैसला लेंगे। साथ ही उन्होंने कहा कि नेताजी का इशारा मेरे लिए आदेश है।

शिवपाल का इतना कहना ये बताने के लिए काफी है कि मुलायम परिवार में जिस हालात को सामान्य बताने की कोशिश की जा रही है दरअसल वो हालात उतना सामान्य नहीं है। कौमी एकता दल का एक बार पहले भी समाजवादी पार्टी में विलय हो चुका था। लेकिन सीएम अखिलेश इसके खिलाफ थे। जिसके बाद उस विलय को रद्द कर दिया गया। बताया जाता है कि उस विलय में चाचा शिवपाल ने अहम भूमिका निभाई थी। और विलय के दिन शिवपाल उस मंच पर मौजूद भी थे । अब एकबार फिर से ये चर्चा हो रही है कि कौमी एकता दल का समाजवादी पार्टी में विलय हो सकता है। हलांकी इसपर खुलकर किसी तरफ से कोई बयान सामने नहीं आया है।

Loading...

Leave a Reply