लिखे हुए और गंदे नोट भी स्वीकार करेंगे बैंक- RBI

नई दिल्ली:  अगर किसी के पास कुछ लिखा हुआ नोट या फिर पुराने गंदे नोट आ जाएं तो सबसे बड़ी समस्या ये होती है कि अब वो उसका क्या करेंगे। क्योंकि बैंक इस तरह के नोटों को स्वाकीर करने से इनकार कर देते हैं। लोगों को हो रही इस परेशानी की जानकारी आरबीआई तक भी पहुंची। जिसके बाद आरबीआई ने एक गाइडलाइन जारी की है। जिसमें साफतौर पर कहा गया है कि पुराने, लिखे हुए या गंदे नोट को स्वीकार करने से बैंक इनकार नहीं कर सकते हैं। आरबीआई की तरफ से कहा गया है कि बैंकों को ऐसा ‘क्लीन नोट पॉलिसी’ के तहत करना है।

आरबीआई ने बैंको को निर्देश जारी करते हुए कहा है कि बैंकों को क्लीन नोट पॉलिसी के तहत काम करना चाहिए। और पुराने, लिखे हुए और गंदे नोट को लेने से मना करने के बदले उन्हें स्वीकार करना चाहिए। रिजर्व बैंक की तरफ से साफ कहा गय है कि जो भी बैंक इस तरह के नोट को लेने से इनकार करेंगे उनपर पेनल्टी लगाई जाएगी।

रिजर्व बैंक ने ये निर्देश इसलिए जारी किया है क्योंकि पिछले कुछ वक्त से इस तरह की शिकायत आ रही थी 500 और 2000 के गंदे नोट लेने में बैंक आनाकानी कर रहे हैं। ग्राहकों को बताया जाता था कि आरबीआई की तरफ से इस तरह के निर्देश आए हैं। जबकि आरबीआई ने ऐसा कोई निर्देश दिया ही नहीं था।

लेकिन अब आरबीआई की तरफ से ये साफ किया जा चुका है कि इस तरह के नोट लेने से इनकार करनेवालों पर कार्रवाई होगी। आरबीआई ने ये भी कहा है कि बैंकों को इस तरह के कोई निर्देश नहीं दिये गए हैं। बैंकों से कहा गया था कि उनका स्टाफ नोट पर न लिखे। क्योंकि नोट पर लिखने की सबसे ज्यादा शिकायत बैंक स्टाफ से ही आई थी। बैंकों को खराब नोटों को दोबारा जारी नहीं करने के भी निर्देश दिये गए हैं।

Loading...