RBI ने पेश की मौद्रिक नीति समीक्षा, ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं

दिल्ली: रिजर्व बैंक के गवर्नर रघुराम राजन ने अपने कार्यकाल की आखिरी मौद्रिक नीति समीक्षा पेश की। इससे उन लोगों निराशा हुई जो ये उम्मीद लगाए बैठे थे कि ब्याज दरों में कटौती हो सकती है जिसका असर उनके ईएमआई पर पड़ता। लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ। रघुराम राजन ने पॉलिसी रेपो रेट और कैश रिजर्व रेट यानि सीआरआर में किसी तरह का बदलाव नहीं किया है। मंगलवार को RBI मौद्रिक नीती पेश करते हुए रेपो रेट को 6.5 फीसदी और सीआरआर को 4 फीसदी पर बरकरार रखा है।

RBI ने मार्च 2017 तक रिटेल महंगाई दर 5 फीसदी रहने का अनुमान जताया है। पहले भी इसी दर का अनुमान था। RBI के मुताबिक ये दर 5 फीसदी के पार भी जा सकती है। RBI ने वित्त वर्ष 2016-17 के लिए 7.6 फीसदी वृद्धि दर का अनुमान बरकरार रखा है।

RBI के गवर्नर रघुराम राजन की ये आखिरी मौद्रिक नीति समीक्षा थी। राजन 4 सितंबर को रिटारयर हो जाएंगे। अगली मौद्रिक नीति 4 अक्टूबर को पेश की जाएगी। उम्मीद की जा रही है कि उससे पहले नए RBI गवर्नर के नाम का एलान हो जाएगा।

Loading...