रवि शास्त्री बने टीम इंडिया के मुख्य कोच, जहीर बने बॉलिंग कोच, द्रविड़ को बड़ी जिम्मेदारी

नई दिल्ली:  रवि शास्त्री को टीम इंडिया का मुख्य कोच चुन लिया गया है। जहां मुख्य कोच चुने गए तो वहीं काफी दिनों से ये मांग की जा रही थी कि टीम इंडिया में एक बॉलिंग कोच भी मिलना चाहिए। इसलिए बीसीसीआई ने मुख्य कोच के साथ साथ बॉलिंग कोच के नाम का भी एलान कर दिया। जहीर खान टीम इंडिया के बॉलिंग कोच होंगे। वहीं द वॉल के नाम से मशहूर राहुल द्रविड़ अब विदेशी दौरे पर टीम इंडिया के बल्लेबाजी कोच की भूमिका निभाएंगे। इस वक्त द्रविड़ इंडिया-ए टीम को कोचिंग दे रहे हैं।

कोच का नाम फाइनल होने के बाद सलाहकार समिति में शामिल सौरव गांगुली ने कहा मुख्य कोच के लिए नाम तय करने में विराट की पसंद का ध्यान रखा गया है। उन्होंने कहा कि टीम उनकी (विराट) है ग्राउंड पर उन्हें ही टीम को लीड करना है। इसलिए उनकी पसंद का ध्यान रखना जरुरी था।

सोमवार को सलाहकार समिति के सामने 5 उम्मीदवारों का इंटर्व्यू हुआ था। जिसके बाद नए कोच के चयन को कुछ दिनों के लिए ये कहकर टाल दिया गया था कि कप्तान विराट कोहली की राय लेने के बाद कोच के नाम पर अंतिम मुहर लगाई जाएगी। ये काम मंगलवार को पूरा हो गया। सौरव गांगुली, वीवीएस लक्ष्मण और सचिन तेंडुलकर की सलाहकार समिति ने रवि शास्त्री के नाम पर मुहर लगा दी। शास्त्री श्रीलंका दौरे पर टीम इंडिया के साथ जाएंगे। उनका कार्यकाल 2019 वर्ल्ड कप तक होगा।

कोच के लिए 5 उम्मीदवारों ने आवेदन किया था। लेकिन अंतिम मुकाबला सहवाग और शास्त्री के बीच रहा। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक सौरव गांगुली वीरेंद्र सहवाग के पक्ष में थे जबकि सचिन तेंडुलकर की पसंद रवि शास्त्री थे। कप्तान विराट कोहली की पसंद भी शास्त्री ही थे।

हलांकि शास्त्री ने आवेदन करने से पहले ही ये शर्त रख दी थी कि बीसीसीआई पहले उन्हें कोच बनाने की गारंटी दे। इसके बाद ही वो आवेदन करेंगे। रवि शास्त्री इससे पहले टीम इंडिया के डायरेक्टर रह चुके हैं। और कप्तान विराट कोहली के साथ उनका संबंध काफी अच्छा है। कोच के लिए रवि शास्त्री, वीरेंद्र सहवाग, रिचर्ड पाइबस, टॉम मूडी और फिल सिमंस इंटर्व्यू के लिए पहुंचे थे।

Loading...