साइकिल के लिए EC में अखिलेश गुट ने 7 कार्टन में सौंपे 1.5 लाख पन्नों के दस्तावेज

साइकिल के लिए EC में अखिलेश गुट ने 7 कार्टन में सौंपे 1.5 लाख पन्नों के दस्तावेज




नई दिल्ली:  समाजवादी पार्टी में जारी साइकिल की लड़ाई अब चुनाव आयोग के दरवाजे तक पहुंच चुका है। शनिवार शाम को अखिलेश गुट की तरफ से रामगोपाल यादव ने चुनाव आयोग के सामने साइकिल की दावेदारी पेश कर दी। रामगोपाल यादव ने आयोग के सामने डेढ़ लाख से ज्यादा पन्नों के दस्तावेज सौंपे हैं। जिसमें विधायकों, एमएलसी और कार्यकर्ताओं के समर्थन पत्र शामिल हैं।

रामगोपाल यादव ने जो दस्तावेज सौंपे हैं उसमें 205 विधायकों के हलफनामे शामिल हैं। रामगोपाल यादव ने दावा किया कि 90 फीसदी विधायक और एलएलसी अखिलेश के समर्थन में हैं। असली समाजवादी पार्टी अखिलेश की है और साइकिल चुनाव चिन्ह पर हमारा अधिकार है।

रामगोपाल ने कहा हमने कुल 5731 प्रतिनिधियों में से 4716 प्रतिनिधियों के हलफनामे सौंपे हैं। यह भारी बहुमत है, 90 फीसदी से ज्यादा लोग अखिलेश के साथ हैं। चुनाव आयोग ने हमें 9 जनवरी तक का वक्त दिया था लेकिन हमने सारे दस्तावेज आज ही जमा करवा दिये हैं। 1.5 लाख से ज्यादा के दस्तावेज सात कार्टन में भरकर लाए हैं।

शनिवार को दिनभर ये कयास लगाए जाते रहे कि हो सकता है समाजवादी पार्टी में कोई सुलह का रास्ता निकल जाए। इसे लेकर बैठकें भी हुई। लेकिन सारी कोशिश बेनतीजा साबित हुई। अखिलेश किसी कीमत पर राष्ट्रीय अध्यक्ष का पद छोड़ने के लिए तैयार नहीं हैं। अखिलेश चुनाव होने तक सारे अधिकार अपने पास रखना चाहते हैं। इसी बात पर मुलायम खेमा को आपत्ति है।

सूत्रों के मुताबिक अखिलेश ये भी चाहते हैं कि शिवपाल को प्रदेश की राजनीति से दूर रखा जाए साथ ही अमर सिंह को पार्टी से बाहर रखना चाहते हैं अखिलेश। अखिलेश रामगोपाल यादव को दोबारा पार्टी में पद और अधिकार भी दिलाना चाहते हैं। लेकिन अखिलेश की इन मांगों के लिए मुलायम खेमा तैयार नहीं है।

Loading...

Leave a Reply