राम रहीम के 1000 गुंडे हिरासत में लिये गए, अब तक 32 की मौत

नई दिल्ली:  राम रहीम को साध्वी की रेप का दोषी ठहराए जाने के बाद हरियाणा, दिल्ली, यूपी में राम रहीम के गुंडे हिंसा पर उतारु हो गए। डेरा के गुंडों ने सबसे ज्यादा उत्पात पंचकूला में मचाया। जहां 100 से ज्यादा गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया गया, कई बिल्डिंग में आग लगा दी गई, ट्रेन में आग लगा दी गई, स्टेशन में आगजनी की गई, बिजली दफ्तर में आग लगा दी गई। केवल हरियाणा में ही नहीं पंजाब में भी राम रहीम के गुंडों ने तोड़फोड़ की।

दिल्ली और गाजियाबाद भी राम रहीम के गुंडों ने दो बसों को आग लगा दिया। नोएडा, गाजियाबाद और दिल्ली में धार 144 लगा दी गई है। दिल्ली के आनंद विहार स्टेशन पर राम रहीम के गुंडों ने ट्रेन में आग लगा दी।

डेरा के गुंडों के इस हिंसा में 32 लोगों की मौत हो गई है। जबकि 250 से ज्यादा लोग घायल हो गए हैं। कई पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं। हरियाणा के पांच शहरों में कर्फ्यू लगा दिया गया है।

जिस तरह से राम रहीम के गुंडों ने हिंसा की उसके बाद सवाल ये उठ रहे हैं कि क्या मनोहर लाल खट्टर इस्तीफा देंगे। क्योंकि इन्हें रोकने में सरकार पूरी तरह से नाकाम रही है। राम रहीम के खिलाफ फैसला आने के बाद केवल पांच मिनट में ही डेरा के गुंडे सरकार के सारे इंतजामों पर भारी पड़ गए। पुलिस अपनी जान बचा रही थी।

मीडियाकर्मी भी इससे बच नहीं पाए। कई चैनल के ओबी वैन को आग लगा दिया गया। मौके पर मौजूद पत्रकारों पर धारदार हथियार से हमला किया गया। इस सब के बाद सीएम मनोहर लाल खट्टर ने पहले ट्वीट कर हालात को काबू में बताया उसके बाद सामने आकर ये बयान देते हैं कि हालात पर वो नजर बनाए हुए हैं। हिंसक भीड़ का साथ लोग ना दें। लेकिन सरकार के पास इस सवाल का कोई जवाब नहीं है कि उनकी पूरी तैयारी इन गुंडों के सामने ध्वस्त क्यों हो गई।

Loading...