राम रहीम के साथ हेलीकॉप्टर में सवार इस महिला का सच जानिये?

राम रहीम के साथ हेलीकॉप्टर में सवार इस महिला का सच जानिये?

नई दिल्ली:  पंचकूला की सीबीआई की विशेष अदालत ने जब राम रहीम को बलात्कार का दोषी बताया तो पुलिस के सामने सबसे बड़ी चुनौती उन्हों अदालत से लेकर जेल तक जाने की थी। क्योंकि अदालत परिसर के बाहर राम रहीम के गुंडों ने डेरा जमा कर रखा था। दोषी करार दिए जान के बाद जब राम रहीम अदालत से बाहर निकले तो उनके सुरक्षा गार्ड और वहां मौजूद सीनियर आईपीएस अधिकारी के बीच नोकझोंक भी हुई।

बताया जा रहा है कि राम रहीम के सुरक्षागार्ड ने सीनियर आईपीएस अधिकारी के साथ हाथापाई की। इसपर जब हरियाणा के डीजीपी बीएस संधू से सवाल किया गया तो उन्होंने इस छिपाने की कोशिश की। उन्होंने कहा वो मालूमी नोंकझोंक थी। उन्होंने कहा दरअसल कोर्ट से बाहर निकलने के बाद राम रहीम अपनी निजी गाड़ी से जाना चाहते थे। लेकिन चुकी अदालत ने उन्हें दोषी बता दिया था इसलिए उन्हें पुलिस की गाड़ी में ले जाया गया।

दोषी होने के बाद जब कोर्ट के बाहर जब राम रहीम मौजूद थे तब उनके बगल में एक महिला भी खड़ी थी। जब डीजीपी से पूछा गया वो महिला कौन थी तो उनका कहना था कि वो राम रहीम की बेटी थी। लेकिन उनकी बेटी का साथ अगर कोर्ट के बाहर तक ही रहता तो कोई खास बात नहीं होती। लेकिन जब पुलिस राम रहीम को हेलीकॉप्टर से लेकर रोहतक जा रही थी उस वक्त उनकी बेटी भी उसी हेलीकॉप्टर में सवार थी।

हैरानी की बात ये है कि इस बारे में राज्य के डीजीपी को भी कोई जानकारी नहीं है कि राम रहीम की बेटी उनके साथ हेलीकॉप्टर में सवार हुई थी। शनिवार को प्रेस कांफ्रेंस में जब डीजीपी संधू से पूछा गया तो उनका सीधा सा जवाब था इसकी जांच करवाई जाएगी। इससे अंदाजा हो जाता है कि पुलिस किस हद तक बेखबर थी। उसे इतना तक पता नहीं था कि वो रेप के एक गुनहगार को जेल लेकर जा रही है। किसी बारात में नहीं। लेकिन पुलिस के पास इसका कोई जवाब नहीं है।

Loading...

Leave a Reply