पहली बार दुनिया के सामने है राम रहीम की प्राइवेट करेंसी

पहली बार दुनिया के सामने है राम रहीम की प्राइवेट करेंसी

सिरसा/हरियाणा:  राम रहीम के डेरे में आज से गहन तलाशी अभियान शुरु हो चुकी है। जैसे जैसे छापेमारी आगे बढ़ रही है डेरे की सच्चाई भी सामने आने लगी है। पुलिस ने डेरे के दो कमरों को सील कर दिया है। बताया जा रहा है कि इन कमरों में भारी मात्रा में कैश बरामद किये गए हैं। पुलिस ने कई कंप्यूटर और हार्ड डिस्क भी कमरे में सील कर दिये हैं। इन कमरों में कई आपत्तिजनक सामन भी बरामद हुए हैं। इस तलाशी अभियान को देखते हुे सिरसा में मोबाइल और इंटरनेट पर 10 सितंबर तक लिए बंद कर दिये गए हैं

तलाशी में वो करेंसी भई मिल गई है जिससे डेरे के भीतर किसी तरह की खरीदारी करने में इस्तेमाल किया जाता था। दरअसल राम रहीम के डेरे के भीतर और सिरसा में डेरा मुख्यालय के आसपास राम रहीम की इसी करेसी का इस्तेमाल होता थी। ये एक टोकन की तरह होता था जो प्लास्टिक के बने होते थे। इसमें अलग अलग मान के सिक्के होते थे।

ANI

डेरा के भीतर कोई भी चीज खरीदने के लिए भारतीय करेंसी नहीं बल्कि डेरा की करेंसी का इस्तेमाल होता है। ग्राहक अगर भारतीय करेंसी में खुल्ले नहीं दे पाते तो दुकानदार इनके बदले पांच और दस रुपये के प्लास्टिक के सिक्के या टोकन उन्हें दिया करते थे।

ANI

डेरा के इन सिक्कों पर लिखा होता है धन धन सतगुरू तेरा ही आसरा, डेरा सच्चा सौदा सिरसा। इनका इस्तेमाल ग्राहक बाद में सच दुकानों से सामान खरीदने में करते थे। सिरसा में डेरा परिसर के भीतर और उसके आसपास जो भी दुकान हैं उनके शुरुआत में सच लिखा जाना अनिवार्य है। डेरा मुख्यालय के आसपास दुकानदार सच दुकानें चलाते थे। उनके पास अलग-अलग कलर कोड के प्लास्टिक के सिक्के होते थे।

Loading...

Leave a Reply