ramrahim

राम रहीम ने डेरा में पॉलिटिकल विंग तैयार कर डेंजर प्लान बनाया था

राम रहीम ने डेरा में पॉलिटिकल विंग तैयार कर डेंजर प्लान बनाया था

नई दिल्ली:  सितारे जब चमक रहे थे तो राम रहीम हर वो काम चुटकी बजाते हुए पूरा कर लेता था जिसके बारे में आम लोग सोच भी नहीं सकते। या अगर सोचते हैं तो उसे पूरा करने में वर्षों लग जाते हैं। लेकिन जो अरबों का साम्राज्य पर राम रहीम ने तैयार किया था उसके पीछे भक्तों के साथ साथ  उसका राजनीतिक सरूख भी काम आया।

वो मंजर कई बार देखा गया है जिसमें हरियाणा सरकार के कई मंत्री राम रहीम के चरणों में दंडवत हुए हैँ। सरकार के मंत्री इस बलात्कारी बाबा के सामने हाथ जोड़कर एक याचक की मुद्रा में खड़े होते थे। इस उम्मीद में कि बाबा की थोड़ी कृपा मिल जाए। राजनेताओं की इसी कमजोरी ने राम रहीम को ताकतवर बनाया और प्रशासन को उसके इशारे पर नाचने वाला नचनिया बना दिया।

नेताओं की इस कमजोरी को राम रहीम भांप चुका था। से ये भी एहसास था कि उसने काफी कुकर्म किये हैं। अपने कुकर्मों का गुनाह हलका करवाने के लिए राम रहीम लगातार इन नेताओं और मंत्रियों के संपर्क में रहता था। लेकिन हाल के दिनों में उसे ये एहसास हो गया था कि दूसरे की सरकार बनवाने से अच्छा है कि अपनी सरकार तैयार कर ली जाए।

अपनी इसी राजनीतिक महत्वाकांक्षा की पूर्ति के लिए राम रहीम ने डेरा में अपनी पॉलिटिकल विंग तैयार की थी। जो राजनीतिक गतिविधि पर नजर रखती थी। इस विंग का गठन ही चुनावी तैयारी के लिए किया गया था। दरअसल हर चुनाव में राम रहीम किसी न किसी पार्टी को समर्थन का एलान करते था। 2009 में उसने कांग्रेस का समर्थन किया था। तो उसे जीत मिली। 2014 में उसके चरण छूने बीजेपी के नेता पहुंचे थे। तो बीजेपी को जीत मिली।

दरअसल हरियाणा की 18-22 विधानसभा सीटों पर सीधे तौर पर राम रहीम का प्रभाव है। इन सीटों पर वोटर उसे ही वोट देते हैं जिसके पक्ष में डेरा होता है। अपनी इसी ताकत को पहचानकर राम रहीम चुनाव लड़ने का मन बना रहा था। अच्छा हुआ उससे पहले ही उसी किए की सजा मिल गई। क्योंकि जो बाबा अक डेरा से ऐसे कुकर्म कर सकता है अगर उसके हाथ राज्य की सत्ता आ जाती तो वो क्या करता।

Loading...

Leave a Reply