विराट के आगे नतमस्तक BCCI, उनके अहंकार से टीम को बड़ा नुकसान- गुहा

विराट के आगे नतमस्तक BCCI, उनके अहंकार से टीम को बड़ा नुकसान- गुहा

नई दिल्ली:  दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज हारने के बाद विदेश में टीम इंडिया के प्रदर्शन और कोहली की कप्तानी पर सवाल उठ रहे हैं। इसी कड़ी में अब इतिहासकार रामचंद्र गुहा का नाम भी जुड़ गया है। टेलीग्राफ में छपे अपने कॉलम में रामचंद्र गुहा ने कप्तान कोहली, बीसीसीआई और कोच रवि शास्त्री पर सवाल उठाए हैं। गुहा ने लिखा है कि कोहली के फैसलों के सामने बीसीसीआई और कोच रवि शास्त्री नतमस्तक हैं। किसी में इतनी हिम्मत नहीं कि वो कोहली के फैसलों के खिलाफ कुछ बोलें।

गुहा ने लिखा है कि बोर्ड (बीसीसीआई) के अधिकारी विराट कोहली को जितना पूजते हैं उतना तो केंद्र सरकार में कैबिनेट के मंत्री नरेंद्र मोदी को भी नहीं पूजते होंगे। गुहा क्रिकेट के कामकाज को देखने के लिए सुप्रीम कोर्ट की तरफ से गठित कमेटी ऑफ एडमिनिस्ट्रेटर यानि सीओए के सदस्य भी रह चुके हैं। बीसीसीआई के भीतर कई गड़बड़ियों का जिक्र करते हुए उन्होंने चार महीने पहले अपना पद छोड़ दिया था।

गुहा ने अपने कॉलम में लिखा है रवि शास्त्री जैसे कमजोर कोच की कमियां घरेलू मैदान में हुए सीरीज के दौरान छिप गई। लेकिन अब टीम विदेश दौरे पर है। और विदेशी पिच पर सच्चाई सभी के सामने आ गई है। गुहा ने सीओए प्रमुख विनोद राय, सचिन तेंडुलकर, सौरव गांगुली और वीवीएस लक्ष्मण वाली समिति पर भी सवाल उठाए हैं।

उन्होंने लिखा है अनिल कुंबले को हटाकर रवि शास्त्री जैसे साधारण क्रिकेटर को सिर्फ इसलिए टीम इंडिया का कोच बनाया गया क्योंकि इन्होंने विराट के सामने खुद को समर्पित कर दिया। मामला चाहे फ्यूचर टूर प्रोग्राम का हो या नेशनल एकेडमी चलाने का विराट की तूती हर जगह बोलती है। मौजूदा वक्त में कोचिंग स्टाफ, सेलेक्शन कमेटी और एडमिनिस्ट्रेटर सभी का कद विराट के सामने बौना है।

कुंबले की विदाई पर भी गुहा ने लिखा है। उन्होंने लिखा कुंबले भारतीय क्रिकेट इतिहास के सबसे बड़े मैच जिताउ गेंदबाज थे। वे अपने कद और भूमिका दोनों से वाकिफ थे। इसलिए वो हर बार कप्तान की बात नहीं मानते थे। कुंबले देश के इकलौते शख्स थे जो विराट की बराबरी पर थे। कुंबले का बड़ा कद ही उनकी विदाई का वजह भी बना। कोहली का अहंकार टीम के काम नहीं आ रहा है। उनके अहंकार की वजह से टीम का बड़ा नुकसान हो रहा है।

Loading...