आधार कार्ड से अफसरों की लेटलतीफी का रिकॉर्ड तैयार करेगा रेलवे

नई दिल्ली:  अबतक आधार कार्ड को बैंक अकाउंट, मोबाइल नंबर और राशन दुकानों में अनिवार्य करने की चर्चा जोरों पर थी। लेकिन इस बीच अब रेलवे ने आधार को लेकर एक नया आदेश जारी किया है। जिसके मुताबिक अगले साल जनवरी 2018 तक रेलवे के सभी कार्यालयों में आधार कार्ड आधारित बायोमेट्रिक अटेंडेंस प्रणाली लगाई जाएगी। ऐसा करन का मकसद काम पर देर से आनेवाले या काम पर ना आनेवाले पर नजर रखना है। हलांकि देश के कई सरकारी कार्यालयों में इस तरह की अटेंडेंस प्रणाली पहले ही लागू की जा चुकी है।

रेलवे बोर्ड की तरफ से इसे लेकर 3 नवंबर को चिट्ठी जारी की गई है। जिसके मुताबिक बायोमेट्रिक अटेंडेंस प्रणाली सबसे पहले डिवीजन, जोन, कोलकाता मेट्रो, रेल कार्यशाला, फैक्ट्रीज और उत्पादन इकाइयों में 30 नवंबर तक लगाई जाएगी। दूसरे चरण में रेलवे के सभी कार्यालयों में इसे 31 जनवरी 2018 तक लगा दिया जाएगा।

अभी इस तरह की प्रणाली रेलवे के कुछ जोनल मुख्यालयों में लगाई गई है। रेलवे बोर्ड की तरफ से जारी चिट्ठी में ये निर्देश भी दिये गए हैं कि इस प्राणाली को कुछ इस तरह से लागू किया जाए कि डिवीजनल रेल प्रबंधन इसकी निगरानी कर सके। बायोमेट्रिक मशीन के पास सीसीटीवी कैमरे लगाने के भी निर्देश दिये गए हैं।

Loading...

Leave a Reply