दिल्ली के इस ढोंगी बाबा ने 16,000 लड़कियों से संभोग का लक्ष्य रखा था

नई दिल्ली:  हरियाणा के राम रहीम को उसके किये की सजा मिली तो एक और ढोंगी बाबा का कुकर्म सामने आ गया। इसबार जगह दिल्ली है और उस बाबा का नाम वीरेंद्र दीक्षित है। जिसपर आरोप है कि आध्यात्मिक यूनिवर्सिटी के आड़ में लड़कियों शोषण करता था। बीती रात को दिल्ली पुलिस ने उसके आध्यात्मिक यूनिवर्सिटी पर छापेमारी की। जिसमें 41 लड़कियों को आजाद करवाया गया। इन लड़कियों को आश्रम के 17 तालों को तोड़कर आजाद कराया गया।

इन लड़कियों को आश्रम में बंधक बनाकर रखा गया था। जिन लड़कियों को आजाद करया गया है उनमें से कुछ रिटायर्ड पुलिस अफसरों की बेटियां भी हैं। इस यूनिवर्सिटी को इस तरह से बनाया गया है कि बाहर से इसके भीतर की एक भी गतिविधी को नहीं देखा जा सकता है। और ना ही भीरत मौजूद लड़कियों किसी बाहर वाले से संपर्क कर सकती हैं।

सूत्रों के मुताबिक इस यूनिवर्सिटी में दो आश्रम हैं। एक सामान्य और दूसरा वीआईपी। इन दोनों आश्रमों को सुरंग के जरिये एक दूसरे से जोड़ा गया है। इसी सुरंग के जरिये सामान्य आश्रम से वीआईपी आश्रम में मौजूद बाबा वीरेंद्र दीक्षित के पास लड़कियों को पहुंचाया जाता था।

इस आध्यत्मिक यूनिवर्सिटी के आश्रम के हर काम के लिए लड़कियों को रखा गया था। कपड़े धोने से लेकर आश्रम की सफाई तक का काम लड़कियां ही करती थीं। आश्रम में उर के हिसाब से लड़कों को अलग अलग फ्लोर पर रखा जाता था। बाबा वीरेंद्र दीक्षित खुद 28 साल से कम उम्र की लड़कियों के साथ तीसरे फ्लोर पर रहता था। और 30 से 40 साल की लड़कियों को चौथे फ्लोर पर रखा जाता था।

आध्यात्मिक विश्वविद्यालय के कैदखाने से आजाद हुई लड़कियां बता रही थीं कि बाबा उनसे मालिश करवाता था। वह उन्हें कहता था मैं कृष्ण हूं और तुम मेरी रानी। कई लड़कियों ने बताया कि कई बार बाबा पूर्ण नग्न होकर रहते थे और कई लड़कियों की मौजूदगी में उन्हें स्मूच करते थे। कैदखाने से निकाली गई कई लड़कियां मदहोशी में थीं। जिससे ये शक हो रहा है कि उन्हें नशीदी दवा दी जाती थी।

Loading...