यूपी में कांग्रेस ने शुरु की खाट पर चर्चा, राहुल की 25 दिनों की पदयात्रा

लखनऊ: यूपी में कांग्रेस के चुनावी मिशन में राहुल गांधी पदयात्रा करने यूपी की सड़कों पर निकल चुके हैं। 2500 किलोमीटर की राहुल की इस पदयात्रा को ‘किसान यात्रा’ नाम दिया गया है। ये किसान यात्रा यूपी के देवरिया से शुरु हुई है और दिल्ली में 9 अक्टूबर को खत्म होगी। इस दौरान राहुल 55 लोकसभा और 233 विधानसभा जाएंगे। यानि यूपी की कुल विधानसभा सीटों से आधी से ज्यादा सीटों से होकर राहुल की ये किसान यात्रा गुजरेगी।

इस किसान यात्रा में मुख्य आकर्षण ‘खाट पर चर्चा’ है। जिसमें कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी किसानों के साथ खाट पर बैठकर उनकी समस्याओं के बारे में जानेंगे। राजनीति में खटिया बिछाकर चर्चा करने का ये प्रयोग नया है। कांग्रेस को उम्मीद है कि राहुल ने किसानों के लिए जो खाट बिछाई है उससे विधानसभा चुनाव में विरोधियों की खाट खड़ी होगी। खैर क्या रंग लाता है खाट पर चर्चा इसके लिए तो अभी इंतजार करना होगा।

किसान यात्रा में कोशिश किसानों को अपने पक्ष में करने की होगी। इसके लिए कांग्रेस की तरफ से लिखित में किसानों के कहा जा चुका है कि अगर प्रदेश में उसकी सरकार बनती है तो बिजली के दर आधे होंगे और किसानों का कर्ज माफ होगा। इसके लिए कांग्रेस ने नारा दिया है ‘कर्ज माफ, बिजली बिल हाफ’।

यूपी चुनाव में कांग्रेस की खटिया दांव पर लगी है। इस खाट की लाज बची रहे इसके लिए किसानों को किसान फॉर्म दिये जा रहे हैं। जिसमें बिजली बिल आधी करने और किसानों का कर्ज माफ करने का वादा लिखित तौर पर दिया गया है। राहुल अपने इस किसान यात्रा में किसानों के साथ साथ भगवान का आशीर्वाद भी साथ साथ लेकर चल रहे हैं। देवरिया से अपनी यात्रा शुरु करने के बाद राहुल वहां के दूधेश्वर मंदिर पहुंचे। ये जरुरी भी है क्योंकि जमीन की जनता का विश्वास हासिल करने के लिए आसमानी ईश्वर के आशीर्वाद की जरुरत हर किसी को होती है।

-Congress Party, Rahul Gandhi

Loading...