राहुल-तेजस्वी के लंच में परोसे गए सियासी व्यंजन का जायका जानिये

नई दिल्ली:  सियासत में ऐसा तस्वीर कम ही बाहर आ पाती है, जब दो अलग अलग दल के भविष्य एक साथ एक टेबल पर जायकेदार व्यंजन का लुत्फ उठा रहे हों। इसमें ये कोई मायने नहीं रखता कि खाने की मेज पर कढ़ाई पनीर परोसी गई थी, तंदूरी नान, मसालेदार कबाब था, तीखा झोलदार चिकन, मटन या चटकदार सब्जी थी। क्योंकि व्यंजन कोई भी परोसा गया हो उसमें तड़का सियासत वाला ही लगा था।

मेज पर सजे इस दस्तरखान पर होटल के वेटर से लेकर होटल के बाहर से इस मुलाकात पर टकटकी लगाए बैठे लोगों की भी नजर थी। ये राहुल और तेजस्वी की ये मुलाकात तब हो रही थी जब गुजरात चुनाव सिर पर है। और राहुल गांधी आक्रामक तेवर के साथ गुजरात चुनाव में बीजेपी को पानी पिलाने की तैयारी में जुटे हैं।

हर तरफ से बीजेपी को घेरने के लिए चक्रव्यूह तैयार कर रहे हैं कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी। इसी बीच रेस्टोरेंट में लंच पर तेजस्वी और राहुल की मुलाकात काफी बड़ा संकेत दे गई। कहने में कोई हर्ज नहीं कि जिस तरह से राहुल ने यूपी में अखिलेश को अपना साथी चुना है ठीक उसी तरह से राहुल ने बिहार में तेजस्वी को अपने साथी चुना है।

वैसे भी बिहार में कांग्रेस और आरजेडी साथ साथ हैं। जब दोनों नीतीश के साथ थे तब भी साथ थे और अब जब कि दोनों नीतीश से काफी दूर हो चुके हैं तो भी दोनों एक दूसरे के करीब हैं। अभी तुरंत भले ही ना सही लेकिन भविष्य में इस लंच का रूप रंग जरुर दिखाई देगा। जब सियासत में इस खाने का डकार सुनाई देने लगेगा।

Loading...