rahul-gandhi-una

उना में ‘फर्जी’ मां से मिलकर खुश हुए राहुल, सुरक्षा में बड़ी लापरवाही

उना में ‘फर्जी’ मां से मिलकर खुश हुए राहुल, सुरक्षा में बड़ी लापरवाही

राजकोट/गुजरात: पिछले दिनों कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी गुजरात के उना गए थे। वहां चार दलितों की पिटाई की गई थी। जिसका आरोप तथाकथित गौ रक्षकों पर लगा था। पीड़ितों से मिलने राहुल जब राजकोट सिविल अस्पताल पहुंचे तो वहां पीड़ित दलित के बगल में एक महिला भी बैठी थी। राहुल ने उसे ही पीड़ित की मां समझ लिया। उस महिला ने भी खुद को पीड़ित की मां करकर राहुल से मिलीं। महिला ने पीड़ित दलित को पलटकर उसके जख्म भी दिखाए। बाद में राहुल ने उस महिला को गले भी लगाय।

लेकिन अब ये बात सामने आ रही है कि जिस महिला को राहुल ने गले लगाया था वो उस पीड़ित दलित की मां नहीं थी। महिला ने खुद अपने बयान में कहा कि ‘वो उसकी मां नहीं हैं लेकिन मां जैसी ही है।‘ इस बात के सामने आने के बाद कांग्रेस ने गुजरात कांग्रेस से जवाब मांगा है। जिस महिला से राहुल को मिलवाया गया उसका नाम रमा बेन है। पीड़ित दलित के मुताबिक जितने भी लोग उस वार्ड में भर्ती थे वो उनमें से वो किसी की भी मां नहीं थी।
इस घटना को राहुल की सुरक्षा में बड़ी चूक भी माना जा रहा है। उनकी सुरक्षा में तैनात एसपीजी को भी इस बात की जरा भी भनक नहीं लगी कि जिस महिला से राहुल मिल रहे हैं उसका उस पीड़ित दलित से कोई वास्ता नहीं है। यही नहीं नियम के मुताबिक उस महिला को वहां मौजूद भी नहीं होना चाहिए था। लेकिन इस तरफ किसी का ध्यान नहीं गया। राहुल के साथ गुजरात कांग्रेस से जुड़े कई नेता भी मौजूद थे लेकिन उन्हें भी पता नहीं चला कि जिस महिला को राहुल दलित की असली मां समझ रहे हैं दरअसल वो फर्जी मां है।

Loading...

Leave a Reply