राहुल की ताजपोशी पर बड़ा संकट, टल सकती है तारीख

राहुल की ताजपोशी पर बड़ा संकट, टल सकती है तारीख

नई दिल्ली:  कांग्रेस अध्यक्ष के तौर पर राहुल की ताजपोशी पर बड़ा संकट दिखाई दे रहा है। इसकी वजह है काफी हद तक सियासी है लेकिन उससे ज्यादा इसी महीने से शुरु होवे वाला खरमास है। दरअसल पहले 14 दिसंबर को राहुल की ताजपोशी के लिए तय किया गया था। लेकिन चुकी उसी दिन गुजरात में दूसरे चरण का मतदान है इसलिए कांग्रेस के नेता दो खेमे में बंट गए हैं। कुछ नेता 14 दिसंबर को ही ताजपोशी के पक्ष में हैं तो कई नेता इसे 16 दिसंबर करना चाहते हैं।

यहां दिक्कत ये है कि अगर ताजपोशी 16 दिसंबर को होती है तो तबतक खरमास शुरु हो चुका होगा। और खरमास के एक महीने में कोई भी शुभ काम नहीं किया जाता है। नेताओं का तर्क है कि अगर 14 दिसंबर को राहुल की ताजपोशी होती है तो इसका असर गुजरात चुनाव पर पड़ सकता है।

इन दो मतों के बीच अब एक तारीख 12 दिसंबर की तय हुई है। इस दिन राहुल गुजरात में चुनाव प्रचार खत्म कर दिल्ली लौट रहे हैं। माना जा रहा है उनके दिल्ली आने के बाद इसपर फिर से चर्चा की जाएगी। साथ ही 16 दिसंबर की तारीख को लेकर ज्योतिष से भी विचार विमर्श किया जाएगा। माना जा रहा है कि पंडितों से इस बात की चर्चा की जाएगी कि 16 दिसंबर को खरमास कितने बजे से शुरु हो रहा है।

अगर 16 दिसंबर को खरमास दोपहर बाद शुरु हो रहा होगा तो राहुल 16 दिसंबर को ही चुनाव कमेटी के पास अध्यक्ष पद का सर्टिफिकेट लेने जा सकते हैं। इस नए संकट के बाद पहले वाला कार्यक्रम खटाई में पड़ता दिख रहा है। पहले ये तय हुआ था कि राहुल 14 दिसंबर को निर्वाचन अधिकारी से अपने अध्यक्ष पद का सर्टिफिकेट लेने जाएंगे। इस मौके पर एआईसीसी में बड़े पैमाने पर कार्यक्रम की तैयारी भी थी।

Loading...