दिल्ली के थाने की SHO बन गई राधे मां और थानेदार हाथ जोड़कर खड़े हो गए

नई दिल्ली: राधे मां के बारे में भले ही हजारों विवाद हो चुके हों लेकिन दिल्ली के थाने के SHO की भक्ति में राधे मां को थानेदार बना दिया। और जो थानेदार था वो उनका भक्त बनकर हाथ जोड़े खड़ा रहा। यही नहीं इस दौरान पूरा थाने राधे मां के जयकारे से गूंजता रहा और राधे में SHO की कुर्सी पर विराजमान रही। ये वाक्या दिल्ली के विवेद विहार थाने का है।

इस तस्वीर के सामने आने के बाद ये तेजी से वायरल हो रहा है। इस तस्वीर में हाथ में त्रिशूल लिये राधे मां थाने में प्रवेश करती हैं। उन्हें सामने देख थाने के SHO ने अपनी कुर्सी उनके लिए खाली कर दी और खुद राधे मां के बगल में खड़ा हो गया। SHO संजय शर्मा एक भक्त की तरह राधे मां के सामने हाथ जोड़े खड़ा रहा। इस बात से वेपरवाह कि उसने जो वर्दी पहनी है वो किसी स्वयंभू संत की सेवा के लिए नहीं बल्कि जनता की सेवा के लिए है। SHO संजय शर्मा में इस दौरान वर्दी के ऊपर ही लाल रंग की चुनरी भी डाल रखी है।

अब चुकी थाने के मुखिया ही राधे मां के चरणों में लोट पोट हो रहे थे तो भला दूसरे कोतवालों की क्या मजाल की साहेब की देवी भक्ति में उनका साथ ना दे। सो बाकी संतरी से लेकर दारोगा तक भी भक्ति की मुद्रा में हाथ जोड़कर खड़े हो गए। इस दौरान थाने में भक्तों की भीड़ भी लग गई। जबतक राधे मां थाने में SHO की कुर्सी पर विराजमान रही तबतक विवेक विहार का कोतवाली राधे मां के किसी अड्डे की तरह बना रहा। विवेक विहार थाने की ये तस्वीर नवरात्रि के दौरान महाष्टमी की है।

थाने के कांस्टेबल ने SHO की इस भक्ति और थाने में राधे मां की मौजूदगी के बारे में कहा कि वो एक राम लीला में आई थीं। लेकिन जब वहां पर काफी भीड़ हो गई तो SHO संजय शर्मा उसे थाने ले आए। लेकिन जब SHO से उनकी इस भक्ति के बारे में पूछा गया तो वो कन्नी काटकर निकल गए। राधे मां पर दहेज उत्पीड़न, यौन उत्पीड़न, धमकी देने के आरोप लग चुके हैं। संतों की संस्था ने उसे फर्जी संत भी घोषित कर रखा है।

Loading...

Leave a Reply