यूपी में Priyanka बनेंगी कांग्रेस प्रचार समिति की सदस्य?

कुछ दिनों की खामोशी के बाद एक बार फिर चर्चा जोरों पर है कि यूपी विधानसभा चुनाव में Priyanka गांधी वाड्रा की क्या भूमिका होगी। ये चर्चा और ये सवाल इसलिए हो रहे हैं क्योंकि ईद से पहले त्योहार बीतने के बाद इसपर कोई नतीजा आने की उम्मीद जताई जा रही थी। एक और भी वजह है। दरअसल यूपी चुनाव को लेकर यूपी के कांग्रेस प्रभारी गुलाम नबी आजाद के घर एक बैठक हुई। उस बैठक में कई कांग्रेसी तो पहुंचे ही। लेकिन सबसे ज्यादा चौंकाने वाली इंट्री थी सोनिया गांधी की बेटी Priyanka गांधी वाड्रा की।

माना जा रहा है गुलाम नबी आजाद के घर हुई इस बैठक में यूपी चुनाव की रणनीति को लेकर चर्चा की गई। इस बैठक में Priyanka गांधी के आने का ये मतलब लगाया जा रहा है कि पार्टी उन्हें यूपी चुनाव में कोई बड़ी जिम्मेदारी देने के लिए मनाने में जुटी है। पहले भी ये संकेत दिये गए थे कि Priyanka यूपी में कांग्रेस का प्रचार करें।

यूपी में कांग्रेस की चुनावी रणनिति तैयार कर रहे प्रशांत किशोर ने भी ये इच्छा जताई थी कि Priyanka गांधी अमेठी और रायबरेली के साथ साथ यूपी के दूसरे हिस्सों में भी चुनाव प्रचार करें। इसके पीछे प्रशांत किशोर ने ये दलील दी थी कि यूपी में जीत के लिए पार्टी की तरफ से भरोसेमंद चेहरा सामने लाना जरुरी है।

हलांकी गुलाम नबी आजाद के घर से बैठक से बाहर निकलने के बाद निकलने पर Priyanka ने पत्रकारों के किसी सवाल का जवाब नहीं दिया। लेकिन यूपी चुनाव को लेकर हो रही बैठक में जिसमें यूपी के कांग्रेस प्रभारी भी शामिल हों उसमें Priyanka का आना काफी कुछ इशारा करता है। गुलाम नबी आजाद के घर Priyanka की इंट्री इसलिए भी खास हो जाती क्योंकि इस वक्त Priyanka कांग्रेस पार्टी की सदस्य नहीं है। बगैर सदस्य रहे इस तरह के अहम बैठक में आना काफी कुछ इशारा करता है। फिलहाल तो इस इशारे पर पार्टी खामोश है। लेकिन आनेवाले कुछ दिनों में तस्वीर भी साफ हो जाएगी। इससे इनकार नहीं किया जा सकता।
-Priyanka Gandhi

Loading...

Leave a Reply