PTV की दो महिला एंकर ने अधिकारी पर लगाया सेक्शुअल हैरेसमेंट का आरोप




नई दिल्ली: पाकिस्तान के सरकारी टीवी चैनल PTV की महिला एंकर ने सेक्शुअल हैरेसमेंट का आरोप लगाया तो चैनल ने दोनों महिला एंकर पर बैन लगा दिया। चैनल की तरफ से एंकर पर आरोप लगाए गए हैं कि दोनों ने एक अधिकारी पर सेक्शुअल हैरेसमेंट का आरोप लगाने के बाद सोशल मीडिया और टॉक शो में इस बारे में बात की। जबकि इसकी जांच की जा रही थी।

आरोप लगाने वाली एंकर्स का नाम तंजीला मजहर और यासफीन जमाल है। इन दोनों एंकर ने जिस अधिकारी पर आरोप लगाया था उसका नाम आगा मसूद शोरिस है। इस मामले पर 20 जनवरी को PTV मैनेजमेंट की तरफ से सर्कुलर जारी किया गया। जिसमें कहा गया था कि ऑर्गनाइजेशन के कुछ कर्मचारी इसके बारे में सोशल मीडिया पर कमेंट कर रहे हैं। जिससे ऑर्गनाइजेशन की बदनामी हो रही है। सर्कुलर में 24 घंटे में दोनों एंकर्स से सोशल मीडिया में किये गए कमेंट डिलीट करने को कहा गया था। साथ ही कहा गया था कि अगर ऐसा नहीं किया जाता है तो एक्शन लिया जाएगा।

लेकिन PTV के मैनेजमेंट की चेतावनी के बावजूद दोनों एंकर्स ने अपने कमेंट डिलीट नहीं किये। इसके बाद रविवार को दोनों एंकर्स एक निजी चैनल एक्सप्रेस के टॉक शो में शामिल हुईं और उस प्रोग्राम में दोनों ने अपने आरोप दोबारा दोहराए। इसके बाद मैनेजमेंट की तरफ से एंकर्स के खिलाफ एक्शन लिया गया और 22 जनवरी को दोनों एंकर्स पर बैन लगा दिया गया।

PTV के कंट्रोलर हबीब-उर-रहमान ने पीटीवी से जुड़े किसी कार्यक्रम में दोनों के भाग लेने पर रोक लगा दी। रहमान की तरफ से जारी बयान में कहा गया कि तंजीला और यासफीन ने चैनल की इमेज खराब की है। साथ ही बताया गया कि दोनों एंकर्स ने जो आरोप लगाए हैं उसकी जांच मजिस्ट्रेट की तरफ से कराई जा रही है। इस मामले में इंटरनल इन्क्वायरी भी की जा रही है। इसके बावजूद दोनों ने सोशल मीडिआ और टॉक शो का सहारा लेकर गलती की है।

एंकर तंजीला ने आरोपी अधिकारी मसूद से चैट के स्क्रीन शॉट भी शेयर किये हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि PTV में महिलाओं के साथ बंधक की तरह बर्ताव किया जाता है।

Loading...