शिवसेना में शामिल हुईं प्रियंका चतुर्वेदी बोलीं ‘महिला सम्मान के लिए छोड़ी कांग्रेस’

मुंबई:  कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा देने के बाद प्रियंका चतुर्वेदी शिवसेना में शामिल हो गई हैं। प्रियंका ने मुंबई में मातोश्री में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि ये सच है कि मैं पार्टी से टिकट मांग रही थी। लेकिन इसका मतलब ये नहीं कि टिकट नहीं मिलने की वजह से मैंने पार्टी छोड़ी। उन्होंने कहा कि मैंने 10 साल तक पार्टी की सेवा की।

प्रेस कांफ्रेंस में उन्होंने कहा कि महिला का सम्मान बड़ा मुद्दा है। मैंने आत्मसम्मान की लड़ाई लड़ी है। मेरी जिम्मेदारी मुद्दों को लेकर है। उन्होंने कहा कि आज के दौर में शिवसेना से बेहतर दूसरा कोई नहीं है। शिवसेना से मेरा बचपन से मन में एक जुड़ाव रहा है।

प्रियंका ने आज सुबह ही कांग्रेस पार्टी छोड़ने का एलान किया था। जिसके बाद दोपहर में वो शिवसेना में शामिल हुईं। प्रियंका कांग्रेस में गुंड़ों को तरजीह दिये जाने से नाराज थीं। प्रियंका ने 17 अप्रैल को ही अपने ट्वीटर अकाउंट पर अपनी नाराजगी जाहिर की थी। उसके साथ उन्होंने एक चिट्ठी भी शेयर की थी।

प्रियंका ने 17 अप्रैल को ट्वीट करते हुए अपनी पार्टी के प्रति नाराजगी व्यक्त की थी। उसके बाद से उनका कोई बयान सामने नहीं आया। टीवी डिबेट में भी वो पार्टी का पक्ष नहीं रख रही थीं। 17 अप्रैल के ट्वीट में ही उन्होंने मथुरा के स्थानीय नेताओं के द्वारा बदसलूकी का आरोप लगाया था। उन्होंने लिखा था जो लोग मेहनत कर अपनी जगह बना रहे हैं, उनके बदले ऐसे लोगों को तवज्जो मिल रही है, पार्टी के लिए मैंने गालियां और पत्थर खाए हैं, उसके बावजूद पार्टी में रहनेवाले नेताओं ने ही मुझे धमकियां दी। जो लोग धमकियां दे रहे थे, वह बच गए हैं। इनका बिना किसी बड़ी कार्रवाई के बच जाना काफी दुर्भाग्यपूर्ण है।

प्रियंका ने मथुरा के जिस वाक्ये का जिक्र किया था वो सितंबर 2018 का था। ट्वीट के साथ उन्होंने एक चिट्ठी भी जारी की थी। जिसके मुताबिक यूपी के मथुरा में जब प्रियंका चतुर्वेदी राफेल विमान सौदे पर प्रेस कांफ्रेंस करने आई थीं तब कुछ स्थानीय कार्यकर्ताओं ने उनके साथ बदसलूकी की थी। इसके बाद सभी पर अनुशासनात्मक कार्रवाई हुई थी। लेकिन बाद में ज्योतिरादित्य सिंधिया की सिफारिश के बाद उन सभी को बहाल कर दिया गया था।

(Visited 58 times, 1 visits today)
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *