AAP के 20 विधायकों की सदस्यता रद्द, चुनाव आयोग की सिफारिश पर राष्ट्रपति ने मंजूरी दी

AAP के 20 विधायकों की सदस्यता रद्द, चुनाव आयोग की सिफारिश पर राष्ट्रपति ने मंजूरी दी

नई दिल्ली:  दिल्ली हाईकोर्ट में आम आदमी पार्टी की याचिका पर आज ही सुनवाई की जाएगी। AAP ने चुनाव आयोग की तरफ से 20 विधायकों को अयोग्य ठहराने के फैसले को दिल्ली  हाईकोर्ट में चुनौती दी थी। जिसपर कोर्ट ने आज ही सुनवाई करने का फैसला किया है।

दरअसल चुवाव आयोग के फैसले से आम आदमी पार्टी को बड़ा झटका लगा है। चुनाव आयोग ने AAP के 20 विधायकों को अयोग्य करार दिया है। इनपर विधायक रहते लाभ के पद पर बने रहने का आरोप है। चुनाव आयोग ने राष्ट्रपति के पास अपनी सिफारिश भेज दी है। सूत्रों से मिली खबर के मुताबिक अब AAP के इन 20 विधायकों की सदस्यता रद्द होना तय माना जा रहा है।

संसदीय सचिव बनाए जाने के बाद से ही ये विधायक विवादों में आए थे। जिसके बाद मामला चुनाव आयोग पहुंचा था। चुनाव आयोग की बैठक में इन्हें अयोग्य करार दिया गया है। इससे पहले इस मामले पर AAP दिल्ली हाईकोर्ट भी गई थी। लेकिन हाई कोर्ट से भी AAP को राहत नहीं मिली थी। 2016 में हाईकोर्ट ने भी विधायकों को संसदीय सचिव बनाने के फैसले को गलत माना था।

प्रवीण कुमार

शरद कुमार

आदर्श शास्त्री

मदन लाल

चरण गोयल

सरिता सिंह

नरेश यादव

राजेश गुप्ता

अलका लांबा

नितिन त्यागी

संजीव झा

कैलाश गहलोत

विजेंद्र गर्ग

राजेश ऋषि

अनिल कुमार वाजपेयी

सोमदत्त

सुलबीर सिंह डाला

मनोज कुमार

अवतार सिंह

Loading...