प्रशांत किशोर नहीं छोड़ेंगे कांग्रेस का साथ !

प्रशांत किशोर नहीं छोड़ेंगे कांग्रेस का साथ !

सियासी हलकों में एक खबर आई थी की मोदी और नीतीश के चाणक्य रह चुके प्रशांत किशोर कांग्रेस का साथ छोड़ सकते हैं। कहा ये जा रहा था कि कांग्रेस के भीतर उन्हें उनकी मर्जी से काम नहीं करने दिया जा रहा है इसलिए वो कांग्रेस को छोड़ सकते हैं। दरअसल प्रशांत किशोर इस वक्त पंजाब और यूपी चुनाव के लिए कांग्रेस की चुनावी रणनीति तैयार कर रहे हैं।

इन अटकलों पर विराम लगाते हुए प्रशांत किशोर ने कहा है कि वो कांग्रेस का साथ नहीं छोड़ रहे हैं। साथ ही उन्होंने ये भी कहा की उनके कांग्रेस छोड़ने की बात महज कोरी अफवाह है। उसमें कोई सच्चाई नहीं है। आगे उन्होंने कहा की पंजाब और यूपी चुनाव में कांग्रेस के साथ हूं। हलांकी सूत्र बताते हैं कि चुनावी रणनीती की कमान प्रशांत किशोर को सौंपने के बाद कांग्रेस के कुछ नेता उनसे नाराज चल रहे हैं।

प्रियंका या राहुल बने यूपी में सीएम कैंडिडेट-प्रशांत

प्रशांत किशोर ने ही कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी या फिर प्रियंका गांधी को यूपी में कांग्रेस की तरफ से सीएम कैंडिडेट के तौर पर प्रोजेक्ट करने की बात कही थी। उन्होंने कहा था कि यूपी जीतने के लिए जरुरी है कि कांग्रेस का कोई बड़ा नाम सक्रिय तौर पर यूपी चुनाव में जुड़े। उनका ईशारा गांधी परिवार की तरफ था। प्रशांत किशोर ने यहां तक कहा था कि अगर प्रियंका गांधी कांग्रेस की तरफ से सीएम कैंडिडेट नहीं बनना चाहती हैं तो कम से कम उन्हें अपनी भूमिका बढ़ानी होगी। गौरतलब है कि अबतक प्रियंका गांधी अमेठी और रायबरेली में ही चुनाव प्रचार करती आई हैं। लेकिन प्रशांत किशोर चाहते हैं कि वो यूपी विधानसभा चुनाव में अमेठी और रायबरेली के बाहर भी प्रचार करें।

कौन हैं प्रशांत किशोर?

प्रशांत किशोर को पहचान तब मिली जब 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने रिकॉर्ड मतों से जीत हासिल की। इस जीत ने मोदी का कद बढ़ाने के साथ साथ उन्हें पीएम तो जरुर बना दिया लेकिन बीजेपी की उस जीत की जो रणनीति तैयार की गई थी उसमे इसी प्रशांत किशोर का दिमाग था। 2014 के लोकसभा चुनाव के बाद प्रशांत किशोर जेडीयू से जुड़ गए । और उनकी कर्मभूमि बिहार हो गई। बिहार विधानसभा चुनाव से पहले जेडीयू और आरजेडी के गठबंधन के पीछे भी प्रशांत किशोर की ही दिमागी सोच थी। नतीजा सभी के सामने है। बिहार चुनाव के बाद प्रशांत किशोर पंजाब पहुंच चुके हैं। इनदिनों वो पंजाब विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के सियासी रणनीतिकार हैं। पंजाब के बाद प्रशांत किशोर यूपी विधानसभा चुनाव पर फोकस करेंगे।

Loading...

Leave a Reply