राष्ट्रपति चुनाव के लिए डाले जा रहे हैं वोट, कोविंद का राष्ट्रपति बनना तय, TMC, SP में फूट

नई दिल्ली:  राष्ट्रपति के चुनाव के लिए संसद में और राज्य की विधानसभाओं में वोट डाले जा रहे हैं। पीएम नरेंद्र मोदी ने अपना वोट डाला। साथ ही कई और सासंदों ने भी अपना वोट डाला। पीएम मोदी पर जीत का आत्मविश्वास साफ देखा जा सकता था। संसद भवन में पीएम मोदी, बीजपी अध्यक्ष अमित शाह, बीजेपी नेता मुरली मनोहर जोशी समेत कई नेताओं ने वोट डाले। यूपी में सीएम योग ने भी वोट डाला।

एनडीए के सांसदों से लेकर विधायकों तक को ये भरोसा है कि राष्ट्रपति चुनाव में एनडीए के उम्मीदवार राम नाथ कोविंद की ही जीत होगी। बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने कहा कोविंद जीतें या मीरा कुमार लेकिन इतना तो तय है कि राष्ट्रपति एक दलित ही बनेगा। वहीं यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा पहली बार यूपी का कोई व्यक्ति राष्ट्रपति बनने जा रहा है। योगी ने कहा पीएम मोदी ने कानपुर के रामनाथ कोविंद को उम्मीदवार बनाकर यूपी पर कृपा की है।

राष्ट्रपति चुनाव में कई ऐसे दल भी एनीडए के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद का समर्थन कर रहे हैं जो राजनीति में एनडीए में शामिल नहीं है। उड़ीसा में नवीन पटनायक की बीजू जनता दल, बिहार में जेडीयू, तमिलनाडु में एआईएडीएमके समेत कई ऐसी विपक्षी पार्टियां हैं जो राष्ट्रपति चुनाव में एनडीए उम्मीदवार रामनाथ कोविंद का समर्थन कर रही हैं।

राष्ट्रपति चुनाव में ममता बनर्जी की टीएमसी में भी विधायकों की राय बंटी हुई हुई है। त्रिपुरा में टीएमसी के 4 विधायक एनडीए उम्मीदवार राम नाथ कोविंद का समर्थन कर रहे हैं। त्रिपुरा में टीएमसी  के प्रदेश अध्यक्ष आशीष साहा ने इसकी पुष्टि भी कर दी है। जबकि ममता बनर्जी ने अपने सभी विधायकों और सासंदों को यूपीए उम्मीदवार मीरा कुमार के पक्ष में वोट करने के लिए कहा था। हलांकि इसे लेकर किसी तरह का व्हीप जारी नहीं किया गया था। क्योंकि चुनाव आयोग में पहले ही कह दिया था कि राष्ट्रपति चुनाव में पार्टियां अपने सासंदों-विधायकों को व्हीप जारी नहीं कर सकती हैं।

Loading...