BSF जवान की शिकायत पर PMO ने मांगी गृह मंत्रालय से रिपोर्ट




नई दिल्ली: BSF जवान तेज बहादुर यादव की तरफ से खराब खाने की शिकायत किये जाने के मामले में प्रधानमंत्री कार्यालय ने गृह मंत्रालय से रिपोर्ट मांगी है। BSF के जवान तेज बहादुर यादव ने वीडियो के जरिये खराब खाने की शिकायत की थी। जिसमें उच्च अधिकारियों पर राशन बेचने का आरोप लगाया गया था। इस वीडियो के सामने आने के बाद गृह मंत्रालय ने भी उच्च स्तरीय जांच के आदेश दे दिये हैं। वहीं BSF भी अपनी तरफ से जांच कर रही है।

दरअसल पीएमओ ये पता लगाने की कोशिश कर रहा है कि सरकार की तरफ से दी जा रही सुविधा जवानों तक पहुंचती है या नहीं। तेज बहादुर ने आरोप लगाया था कि मामले ने जब तूल पकड़ा तो उसपर सोशल साइट्स से वीडियो हटाने और माफी मांगने का दबाव भी बनाया जा रहा है।

खाने की शिकायत वाला वीडियो सामने आने के बाद तेज बहादुर को कैंप ड्यूटी से हटाकर हेडक्वार्टर भेज दिया गया जहां उसे प्लंबर का काम दिया गया है। इसपर बीएसएफ का कहना है कि पूरे मामले की निष्पक्ष जांच की जा रही है। जांच पर किसी तरह का असर न हो इसलिए तेज बहादुर को कैंप ड्यूटी से हटाकर हेडक्वार्टर पर तैनात किया गया है।

दूसरी तरफ तेज बहादुर की पत्नी ने भी BSF के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। उनकी पत्नी ने कहा अगर वो मानसिक तौर पर फिट नहीं हैं तो BSF ने उन्हें बंदूक क्यों दिया। तेजबहादुर का वीडियो सामने आने के बाद बीएसएफ की तरफ से कहा गया था कि उसका बर्ताव ठीक नहीं रहा है। उसपर अपने सीनियर अधिकारी पर बंदूक तानने का आरोप भी है। इस मामले में उसका कोर्ट मार्शल होना था लेकिन परिवार का खयाल कर ऐसा नहीं किया गया।

Loading...