narender-modi-on-lunch

टूट गया कार्यकर्ताओं का सपना जब पीएम मोदी ने खोला अपना टिफिन

टूट गया कार्यकर्ताओं का सपना जब पीएम मोदी ने खोला अपना टिफिन




वाराणसी: वाराणसी में बीजेपी के हजारों कार्यकर्ता विशेष तैयारी के साथ सभा स्थल पर पहुंचे थे। दिल में ये हसरत लेकर निकले थे कि आज पीएम मोदी को अपने घर का बना खाना खिलाएंगे। लेकिन हजारों कार्यकर्ताओं के अरमान उस वक्त धरे के धरे रह गए जब सभा स्थल में पीएम मोदी ने सुरक्षा घेरा D के अंदर जाकर अपना टिफिन बॉक्स खोला। पीएम मोदी अपने लिए खाना साथ लेकर आए थे।

bjp-party-workerदरअसल बीजेपी की तरफ से कार्यकर्ताओं को कहा गया था कि खाने का पैकेट लेकर आएं। पीएम मोदी किसी के साथ भी खाना साझा कर सकते हैं। पीएम को खाना खिलाने के मामले में महिला कार्यकर्ताओं में अलग ही उत्साह था। कार्यकर्ताओं से संवाद के दौरान जैसे ही पीएम मोदी ने कहा मैं भी कार्यकर्ता हूं। टिफिन लेकर आया हूं। खाना खाना और खिलाना यह बीजेपी का परिवार भाव है राजनीति नहीं। पीएम के इस बात पर कार्यकर्ताओं की ताली तो बजी लेकिन दिल में इस बात की मायूसी जरुर थी कि वो पीएम मोदी को अपने घर से लाया खाना नहीं खिला पाए।

वाराणसी में डीरेका परिसर में पीएम ने 35 हजार कार्यकर्ताओं के साथ तकरीबन डेढ़ घंटे का समय बिताया। मोदी के इस कार्यक्रम में भोजन कार्यकर्ताओं की पोटली से ही करने की बात कही गई थी लेकिन उसे पूरा नहीं किया गया। यही वजह रही कि कुछ कार्यकर्ताओं ने अपना खाना किसी और की तरफ सरका दिया तो कुछ ने खुद ही खा लिया।

भोजन लाने के लिए पार्टी की तरफ से कार्यकर्ताओं को ट्रांसपैरेंट बैग दिया गया था। जिसमें तिरूअनंतपुरम से मंगाया गया खास दोना भी साथ था। शुरु में कहा गया था कि पीएम अचानक किसी कार्यकर्ता के पास पहुंचेंगे और फिर उसकी पोटली से पूड़ी-सब्जी खाएंगे। लेकिन ये बात हवा हो गई। पीएन ने अपने साथ लाया खाना खाया।

Loading...

Leave a Reply