रूस पहुंचे पीएम मोदी, कुडनकुलम परमाणु ऊर्जा पर समझौते की संभावना

नई दिल्ली:  यूरोप दौरे पर निकले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्पेन के बाद अब रूस पहुंचे हैं। रूस के शहर सेंट पीटर्सबर्ग पहुंचने के बाद पीएम मोदी ने ट्विट किया जिसमें उन्होंने लिखा ऐतिहासिक शहर पीटर्सबर्ग पहुंचा। उपयोगी यात्रा की उम्मीद करता हूं। जिसका उद्देश्य भारत-रूस संबंधों को मजबूती प्रदान करना है। पीएम के इस रुस दौरे पर सभी की निगाह कुडनकुलम परमाणु ऊर्जा संयत्र की इकाई 5 और 6 के निर्माण के लिए ऋण की सहायता पर समझौते पर टिकी है।

पीएम के इस दौरे में अगर कुडनकुलम परमाणु ऊर्जा संयत्र की दो इकाई को शुरु करने पर समझौता हो जाता है तो इससे देश में तकरीबन और 2 हजार मेगावाट बिजली का उत्पादन संभव हो सकेगा। फिलहाल देश में सभी 22 परमाणु ऊर्जा संयत्र की बिजली उत्पादन क्षमता 6780 मेगावाट है। अक्टूबर 2015 में पीएम मोदी और ब्लादिर मिर पुतिन ने एक साझा बयान में दिसंबर 2016 तक परमाणु इकाईयों पर जनरल फ्रेमवर्क समझौते का वादा किया था।

रुस में भारत के राजदूत पंकज सरण ने कहा दोनों नेताओं के बीच काफी परस्पर विश्वास और आपसी तालमेल है। ये विश्वास पिछले तीन साल में विकसित हुआ है। उन्होंने कहा सम्मेलन में दोनों नेता मौजूदा संबंधों का जायजा लेंगे और भविष्य के दृष्टिकोण के लिए रुपरेखा पर विचार विमर्श करेंगे।

शुक्रवार को पीएम मोदी सालाना सेंट पीटर्सबर्ग अंतरराष्ट्रीय आर्थिक मंच में चीफ गेस्ट के तौर पर शामिल होंगे। पहली बार कोई भारतीय प्रधानमंत्री आर्थिक और कारोबारी सम्मेलन में शामिल हो रहा है। इस सम्मेलन में दुनियाभर के उद्योगपति और नेता शामिल होंगे। इस सम्मेलन में तकरीबन 60 भारतीय सीईओ भी शामिल होंगे। भारत और रूस के बीच अगले पांच साल में व्यापार को 30 अरब डॉलर पर पहुंचाने का लक्ष्य रखा गया है। अभी यह कारोबार 7.8 डॉलर का है।

इसे भी पढ़ें

नोटबंदी का देश के आर्थिक विकास दर पर हुआ बहुत बुरा असर

Loading...