नरेंद्र मोदी ने सरकार बनाने का दावा पेश किया, सांसदों को ‘दिखास-छपास’ से बचने की सलाह

नई दिल्ली: नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपति के सामने सरकार बनाने का दावा पेश कर दिया। संभवत: 30 मई को नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे। इससे पहले लोकसभा चुनाव संपन्न होने और उसके नतीजे आने के बाद शनिवार को संसद भवन के सेंट्रल हॉल में बीजेपी के सभी नए सांसदों और एनडीए के सांसदों के साथ बैठक की गई। जिसमें पीएम मोदी को सर्वसम्मति से एनडीए की तरफ से नेता चुना गया। इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सेंट्रल हॉल में मौजूद सभी एनडीए के सांसदों को बहुमुल्य सलाह दिये। जिसमें प्रधानमंत्री मोदी ने वीआईपी कल्चर से दूर रहने, दिखास-छपास से बचने और बदले की भावना से कोई काम न करने की सलाह दी।

दिखास-छपास से बचें सांसद

पार्टी के बुजुर्ग नेता लाल कृष्ण आडवाणी के हवाले से पीएम मोदी ने कहा आडवाणी जी कहा करते थे हमें दो चीजों से बचना चाहिए दिखास और छपास। इसका मतलब है छपने की लत और दिखने की लत। सांसदों को सलाह देते हुए पीएम मोदी ने कहा जो साथी आए हैं उनसे आग्रह है कि इन चीजों से बचें। क्योंकि अब देश माफ नहीं करेगा। हमारे पास जिम्मेदारियां हैं, कुछ लोग आपके पास ऑफ द रिकॉर्ड बात करने आते हैं लेकिन एक चीज याद रखिये दुनिया में कोई भी चीज ऑफ द रिकॉर्ड नहीं होती है।

फिजूल की बयानबाजी से बचें

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हम 2014-2019 के कार्यकाल की चर्चा इसलिए नहीं कर रहे कि कुछ गलत किया। लेकिन अगर किसी ने मसाला दिया तो हमने दिया। लेकिन टीवी के उस डंडे (माइक) में पता नहीं क्या ताकत होती है कि उसे देखते ही कुछ लोग बोल देते हैं। कुछ लोगों को मैंने देखा कि सुबह उठकर राष्ट्र के नाम संदेश नहीं देते हैं तो उन्हें चैन नहीं आता है। मैं आज न्यूट्रल होकर कहूंगा कि कुछ भी कहने से बचें।

वीआईपी कल्चर से दूर रहने की सलाह

वीआईपी कल्चर को लेकर पीएम मोदी ने कहा देश को वीआईपी कल्चर से नफरत है। हो सकता है कि आपके अंदर ये भाव आ जाए कि एयरपोर्ट पर मेरी चेकिंग क्यों हो रही है। मैं लाइन में क्यूं लगूं, मैं तो सांसद हूं। लेकिन आप लाइन में क्यों नहीं लगेंगे, आप भी नागरिक हैं। आजकल लोग कैमरे से फोटो निकाल लेते हैं और फिर सोशल मीडिया में आ जाता है। फिर आप देखते हैं कि किसने किया क्यों किया। लेकिन तबतक कुछ नहीं हो सकता। लाल बत्ती हटाने से देश में बहुत बड़ा संदेश गया।

पहली बार चुने सांसदों को सलाह

पहली बार चुने गए सांसदों से नरेंद्र मोदी ने कहा नए लोगों के साथ एक और दिक्कत होगी।अभी तक आपको हो सकता है कि कोई न पहचानता हो। लेकिन अब जब आप दिल्ली आएंगे तो हो सकता है कि गाड़ी लिये लोग मिलें। आपकी सेवा करने की कोशिश करें। लेकिन इस सेवाभाव के चक्कर में आपका नुकसान हो सकता है। हो सकता है कि पुराना एमपी आपसे कहे कि ये अच्छा आदमी है। मेरा काम करता रहा है आपका भी करेगा। आप इस पर भी भरोसा न करें। आप अपने क्षेत्र से अपने अनुभव के आधार पर लोग चुनें।

(Visited 62 times, 1 visits today)
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *