लालकिले पर 55 मिनट में पीएम मोदी ने क्या-क्या बात कही, पढ़िये पूरा भाषण

नई दिल्ली:  पीएम मोदी ने चौथी बार लाल किले से देश को संबोधित किया। अपने 55 मिनट के भाषण में पीएम मोदी ने देश के सामने 2022 तक न्यू इंडिया का विजन देश के सामने रखा। अपने भाषण में पीएम मोदी ने आतंकवाद, भ्रष्टाचार, नोटबंदी और युवओं को समान अवसर का जिक्र किया। पीएम मोदी ने आस्था के नाम पर हिंसा बंद करने की बात भी कही। कश्मीर की समस्या का भी जिक्र प्रधानमंत्री ने अपने भाषण में किया।

सुदर्शन चक्रधारी मोहन से लेकर चरखा धारी मोहन तक हमारी सांस्कृतिक और ऐतिहासिक विरासत के हम सब धनी है।

देश की आजादी के लिए देश की आन बान शान के लिए देश के गौरव के लिए जिन जिन लोगों ने अपना योगदान दिया है यातनाएं झेली है, बलिदान दिया है त्याग की पराकाष्ठा की है ऐसी सभी महानुभावों को माता बहनों को मैं लाल किले की प्राचीर से सवा सौ करोड़ देशवासियों  की तरफ से शत शत नमन करता हूं।

कभी कभार प्राकृतिक आपदाएं हमलोंगों के लिए बहुत बड़ी चुनौती बन जाती है। अच्छी वर्षा देश को फलने फूलने में बहुत ही योगदान देती है। लेकिन जलवायु परिवर्तन का नतीजा है कि कभी कभी ये प्राकृतिक आपदा संकट के मोड़ लेते हैं। पिछले दिनों देश के कई भू भागों में इस प्राकृतिक आपका का संकट आया। पिछले दिनों अस्पताल में हमारे मासूमों की मौत हुई। सवा सौ करोड़ देशवासियों  की संवेदनाएं इस आपत्ति में सबके साथ हैं।

इस संकट की घड़ी में जन सामान्य के साथ कुछ भी करने में हम कमी नहीं रहने देंगे।

ये वर्ष आजाद भारत के लिए विशेष वर्ष है। अभी पिछले सप्ताह ही क्वीट इंडिया मूवमेंट के 75 साल मनाया गया। ये वर्ष है जब चंपारण सत्याग्रह की शताब्दी मना रहे हैं। साबरमती आश्रम की शताब्दी का भी वर्ष है। लोकमान्य तिलक जी ने सार्वजनिक गणेश उत्सव की शुरुआत की थी उसका भी 125वां वर्ष है।

हम आजादी का 70 वर्ष और 2022 में आजादी के 75 साल 1942-1947 देश ने एक सामूहिक शक्ति का प्रदर्शन किया। और पांच साल के भीतर भीतर अंग्रेजों को भारत छोड़कर जाना पड़ा।  अभी 75 साल में हमेरे पास पांच साल हैं। हमारी सामूहिक शक्ति, प्रतिबद्धता परिश्रम की पराकाष्ठा 2022 में सपनों का भारत बनाने के काम आ सकती है। न्यू इंडिया का संकल्प लेकर हमें देश को आगे बढ़ाना है।

सवा सौ दशवासियों की पुरुषार्थ , सामूहिक शक्ति से देश को आगे लेकरक जाना है। सामूहिक शक्ति की ताकत से श्रीकृष्ण एक लकड़ी लेकर खड़े हो गए और गोवर्धन पर्वत को उठा दिया, भगवान राम ने राम सेतू बना दिया सामूहिक शक्ति के द्वारा देश में परिवर्तन ला सकते हैं।

न्यू इंडिया तो समृद्ध हो, शक्ति शाली हो, सभी को समान अवसर उपलब्ध हो, भारत का विश्व में दबदबा हो, स्वतंत्रता  संग्राम हमारी भावना से जुड़ा है। जब आजादी का आंदोलन चल रहा था तब शिक्षक स्कूल में पढ़ाई करवा रहा था, किसान खेत में काम कर रहा था, पुजारी मंदिर में पूजा करवा रहा था उन सभी के मन में ये संकल्प था कि वो जो भी कर रहे हैं देश की आजादी के  लिए कर रहे हैं। घर में व्यंजन जब भगवान के आगे पूजा जाता है तो व्यंजन प्रसाद बन जाता है। जब हम राष्ट्र प्रेम को समर्पित कर काम करते हैं तो उसकी ताकत बढ़ जाती है।

1जनवरी 2018 को मैं सामान्य नहीं मानता। जिन्होंने 21सदी में जन्म लिया है उनके लिए ये वर्ष सामान्य नहीं है। 1 जनवरी 2018 जब वो  18 साल के होंगे तो वो 21वीं सदी के भाग्य विधाता होंगा। मैं इन सभी नौजवानों को हृदय से सम्मान करता हूं। उनका अभिनंदन करता हूं। आप देश की विकास यात्रा में भगीदार बनिये।

जब कुरुक्षत्र के युद्ध में अर्जुन ने कृष्ण से काफी सवाल पूछे तो कृष्ण ने कहा जैसा मन का भाव होता है उसका परिणाम भी वैसा ही होता है। हमारे लिए भी अगर मन का विश्वास पक्का होगा उज्जवल भारत के लिए संकल्प बद्ध होंगे तो हमें भी निराशा को छोड़कर आत्मविश्वास के साथ आगे बढ़ना है। अब चला है का जमाना चला गया अब आवाज ये उठे कि बदला है, बदल सकता है बदल रहा है यही विश्वास हमारे भीतर होगा तो हम भी उस विश्वास के अनुसार काम करेंगे।

साधन हो, सामर्थ्य हो, संसाधन हो जब ये त्याग और तपस्या  से जुड़ जाते हैं तो संकल्प सिद्धि में परिवर्तित हो जाता है। आजाद भारत में हर देशवासी के दिल में देश की रक्षा सुरक्षा बहुत बड़ी बात है।

हमारी सेना, हमारे वीर पुरुष ने जब जब मौका आया है तो बलिदान की पराकाष्ठा करने में हमारे वीर पीछे नहीं रहे हैं। चाहे घुसपैठ हो, दश के भीतर गलत ताकत हो हमारे ये यूनिफॉर्म वाले लोगों ने कोई कसर नही रखा। जब सर्जिकल स्ट्राइक हुई तो हमारा लोहा दुनिया को मानना पड़ा।

देश की आंतरिक सुरक्षा हमारी प्राथमिकता है। समुंदर से लेकर सीमा तक आंतरिक सुरक्षा हमारी प्राथमिकता है। देश के खिलाफ कुछ भी करने वाले हम माफ नहीं करक सकते।

देश को लूटकर तिजोरी भरने वाले अब चैन की नींद नहीं सो सकते हैँ। अब लगता है अगर मैं ईमानदारी के रास्ते पर चलूंगा तो चैन से रहूंगा। बेनामी संपत्ति के कानून कितनों दिनों से लटके थे। हमने इसे आगे बढ़ा तो इतने कम वक्त में हमने 800 करोड़ की बेनामी संपत्ति हमने जब्त कर ली है। 30-40 वर्ष  से हमारी सेना के लिए ओरओपी का मामला लटका पड़ा था।

देश में अनेक राज्य हैं केंद्र सरकार है हमने देखा है कॉपरेटिव फेडरलिज्म के जरिये जीएसटी कामयाब हुआ है। विश्व को अजूबा लगता है कि इतने कम वक्त में जीएसटी का इस तरह से कामयाब होना एक बड़ी बात है।

आज दोगुनी रफ्तार से सड़कें बन रही हैं। आज 14 हजार से ज्यादा गांव में बिजली पहुंचाई जा चुकी है। देश उजाले की तरफ बढ़ रहा है। 29 करोड़ लोगों के बैंक अकाउंट खुलते हैं 9 करोड़ किसानों के सॉइल हेल्थ कार्ड बनता है, गरीब मुख्य धारा में जुड़ता है तो देश प्रगती की तरफ बढञता है।

युवाओं को 8 करोड़ से ज्यादा लोन की सिक्यॉरिटी मिलती है, ब्याज दर में कमी होती है, घर बनाने के लिए कम ब्याज पर पैसे मिलते हैं तो देश आगे बढ़गा औऱ देश का जन सामान्य मानव जुड़ता रहता है।

आज सरकार जो कहती है वो करन के लिए संकल्पबद्ध होती है। इंटर्व्यू खत्म करने की बात हो, पहले 50-60 फॉर्म भरने पड़ते थे आज  केवल 5 फॉर्म भरने पड़ रहे हैं। आज निर्णय लेने में तेजी आई है।

आज भारत की साख विश्व में बढ़ रही है। आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में आज हम अकेले नहीं है। दुनिया के कई देश हमें सक्रिय रूप से मदद कर रहे हैं। हवाला कारोबार में हमें जानकारी दे रहे हैं। हम विश्व के साथ कंधे से कंधा मिलाकर काम कर रहे हैं। जो देश इस काम में हमारा साथ दे रहे हैं मैं उनका अभिनंदन करना चाहता हू।

जम्मू कश्मीर का विकास उसी उन्नती वहां के नागरिको के सपनों को साकार करने का प्रयास वहां की सरकार  के साथ हम हैं। कश्मीर को दोबारा स्वर्ग बनाने के लिए हम प्रतिबद्ध हैं। कश्मीर पर काफी बयानबाजी होती है। मुट्ठी भर अलगाववादी नए नए पैंतरे रचते रहते हैं उनसे निपटने के लिए ना गाली से समस्या सुलझने वाली ही, ना गोली समस्या सुलझने वाली है परिवर्तन होगा कश्मीरियों को गले लगाने से।

आतंकवादियों के खिलाफ कोई नरमी नहीं बरती जाएगी। हमने आतंकियो को कहा है आप मुख्य धारा में आईये। ये मुख्य धारा हर जीनव में खुशहाली भर सकती है। काफी मात्रा में नौजवानों ने खुद को मुख्य धार में शामिल किया।

भारत सरकार ऐसी वेबसाइट लॉन्च कर रही है जिसमें वीरता पुरस्कार प्राप्त करनेवालों के बारे में पूरी जानकारी मिल सकेगी। ट्क्नॉलॉजी की मदद से देश में ईमानदारी को मदद करने का पूरा प्रयास है। कालेधन, भ्रष्टाचार के खिलाफ हमारी लड़ाई जारी रहेगी। दुनिया के अनेक लोग भारत के इस कदम की चर्चा करते हैं।

अब गांव में बैठा लोग भी अपना माल सरकार को सप्लाई कर सकती है। डीईएन पोर्टल बनाया उसकी मदद से ये संभव हुआ है।

जब सरकार के काम में कोई विलंब हो जाता है तो सबसे ज्यादा नुकसान मेरे गरीब परिवीरों को होता है। हम 9 महीने के भीतर मंगलयान पहुंच सकते हैं।लेकिन एकबार हमारे सामने ऐसी बात आई जिसमें 42 साल से रेलवे का 70-72 किलोमीटर का रेल पटरी बिछाने का प्रोजेक्ट लटका पड़ा था। हमने इसमें बदलाव लाने की शुरुआत की है।

यूरिया के लिए राज्य-केंद्र के बीच तनाव चलता था। हमें पता है देश के विकास में राज्यों की कितनी भूमिका है। आज मिलकर के सारे फैसले हम कर रहे हैं। इसी लालकिले की प्राचीर से देश के राज्यों के बिजली की दुर्दशा की चर्चा एक प्रधानमंत्री ने की थी। आज हमने बिजली के कारोबार में मिलकर समस्या को खत्म किया।

न्यू इंडिया हमरे लोकतंत्र की सबसे बड़ी ताकत है। लेकिन लोकतंत्र को हमने मतपत्र तक सीमित कर दिया है। लोकतंत्र मतपत्र तक सीमित नहीं हो सकता है। हम……….. लोकमान्य तिलक ने कहा था स्वराज हमारा जन्मसिद्ध अधिकार है। आज हमारा नारा होना चाहिए सुराज हमारा जन्मसिद्ध अधिकार है।

नोटबंदी में सवा सौ करोड़ लोगों ने जिस विश्वास को दिखाया आज उसी का परिणाम है कि भ्रष्टाचार के खिलाफ हम कदम उठाने में सफल हो रहे हैं।

हमारे देश के लिए इस नई लोकभागीदारी की परंपरा ही हम लोगों की शक्ति है। लाल बहादुर शस्त्री ने जय जवान जय किसान का नारा दिया था। हमारे किसान ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा है। आज रिकॉर्ड उत्पादन किसान कर रहे हैं। दाल का रिकॉर्ड उत्पादन किया है किसानों ने। 16 लाख टन दाल सरकार ने खरीदा। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के रूप में किसानों को एक सुरक्षा कवच मिला है। प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना में किसान को पानी पहुंचाने के लिए शुरु की गई। 2019 से पहले 99 योजनाओं को पूरा कर पानी पहुंचाने का काम पूरा कर देंगे।

जबतक व्यवस्था नहीं देंगे तबतक किसान का भाग्य नहीं बदल सकते। उसके लिए आधारभूत संरचना चाहिए। उसे बदलने के लिए एफडीआई को बढ़ावा दिया। भारत सरकार ने पीएम किसान संपदा योजना लागू की है जो बीज से बाजार तक किसान को हैंड होल्डिंग करेंगे और किसानों की जिंदगी में बदलाव लाने में हम सफल होंगे।

हमारे देश में नेचर ऑफ जॉब में भी बहुत  बदलाव आ रहा है। रोजगार में ट्रेनिंग और मानव संसाधन के विकास के लिए भारत सरकार ने कई योजनाएं शुरु की। नौजवानों को बिना गारंटी बैंकों से पैसा मिले इसके लिए प्रधानमंत्री मुद्रा योजना शुरु की। हमारे नौजवान रोजगार पाने वाले नहीं रोजगार देनेवाले बनें। शिक्षा को नौकरियों के साथ जोड़ने का काम भी किया है।

आज माताएं भी रोजगार के लिए जाती हैं। रात में भी माताएं-बहनें काम कर सकें इसके लिए लेबर लॉ मे बदलाव किया। मेटरनिटी लीव 12 सप्ताह से बढ़ाकर 26 सप्ताह किया है।

तीन तलाक के कारण कई बहनें खराब जिंदगी जीने के लिए मजबूर हुई। ऐसी बहनों ने देश में एक आंदोलन खड़ा किया। पूरे देश में तीन तलाक के  खिलाफ एक माहौल का निर्माण हुआ। जो बहनें तीन तलाक की लड़ाई लड़ रही है उनका मैं अभिनंदन करता हूं। महिला सशक्तिकरण में वो सफल होंगी ऐसा मेरा विश्वास है।

कभी कभी आस्था के नाम पर धैर्य के अभाव में लोग ऐसा काम कर बैठते हैं जिससे सदभावना बिगड़ जाती है। सभी को साथ लेकर चलना इस देश का संकल्प है। इसलिए आस्था के नाम पर हिंसा को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। अस्पताल में आग लगा दी जाती है, बसों में आग लगा दी जाती है ये सही नहीं। आस्था के नाम पर हिंसा के रास्ते पर देश चल नहीं सकता।

पहले नारा था भारत छोड़े आज नारा है भारत जोड़ो।

तीन साल में अनगिनत निर्णय किये। जब आप इतना बड़ा बदलाव करते हैं तो रुकावट आती है। हम पूरे देश को एक नए ट्रैक पर ले जाने की कोशिश कर रहे हैं। लेकिन अर्थव्यवस्था की स्पीड कम नहीं होने दिया है। …..

21वीं सदी में भारत को आगे बढ़ाने के लिए हमारा पूर्वी हिंदुस्तान में अपार संभावना है। हमारा ध्यान बिहार, बंगाल, आसाम, उड़ीसा पर है। इन राज्यों में अपार प्राकृति संपदा है।

भ्रष्टाचार मुक्त भारत के लिए हम काम कर रहे हैं। तीन साल में सवा लाख से ज्यादा कालाधन हमने ढूंढ लिया है। फिर नोटबंदी का फैसला किया। नोटबंदी से हमने अनेक कामयाबी पाई है। जो कालाधन छिपा था वो सामने आया। हमने कुछ कुछ दिन वक्त बढ़ाते रहते थे। हमारी कोशिश थी कि जो काला धन बाहर आए वो बैंकों तक पहुंचे।

नोटबंदी के बाद 3 लाख करोड़ रुपया अतिरिक्त बैंकों में आया है। बैकों मे जमा राशि में पौने दोलाख करोड़ राशि शक के घेरे में है। करीब दो लाख करोड़ रुपये का कालाधन बैंकों तक पहुंचा है। नए कालेधन पर भी रुकावट आई है। 1 अप्रैल से 5 अगस्त तक इनकम टैक्स रिटर्न भरने वालों की संख्या 56 लाख रही पिछले साल ये संख्या 22 लाख रही। 18 लाख ऐसे लोगों को पहचाना है जिनकी आय ज्यादा है। 4 लाख लोग अपनी गलती मान रहे हैं। 1 लाख लोगों कभी इनकम टैक्स का नाम नहीं सुना था।

कालेधन के कारोबारी शेल कंपनियां चलाते थे। और जब नोटबंदी के बाद जब डाटा देखा गया तो 3 लाख ऐसी कंपनियां हैं जो केवल हवाला कारोबार करती थी। उनमें से पौने दो लाख कंपनियों का रजिस्ट्रेशन हमने बंद कर दिया। कुछ शेल कंपनियां ऐसी हैं जो एक ही एड्रेस पर 400 कंपनियां चल रही थी। हमने भ्रष्टाचार के खिलाफ बड़ी लड़ाई छेड़ी।

जीएसटी के बाद उसमें और ट्रांसपेरेंसी आनेवाली है। ट्रांसपोर्टेशन में 30 फीसदी वक्त बच गया है। क्योंकि चेक पोस्ट खत्म हो गए हैं। एक जीएसटी से ये परिवर्तन आया है।

नोटबंदी के कारण बैंकों के पास धन आया है। बैंक अपना कर कम कर रही है।

विश्व का सबसे बड़ा युवा वर्ग हमारे देश में है। दुनिया में हमारी पहचान आईटी वर्ल्ड से है। एक वक्त में चमड़े के सिक्के चलते थे अब खत्म हो चुके हैं। अब कागज की करेंसी डिजिटल करेंसी में बदलनेवाली है। डिजिटल लेनदेन में 34 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है और प्री पेड भुगतान में 44 फीसदी बढ़ोतरी हुई है।

पहले राज्यों के मुख्यालय में डायलिसिस होते थे अब जिला मुख्यालय में डायलिसिस किये जा रहे हैं। करीब तीन हजार जिलों तक हमने पहुंचा दिया है। ………

हम न्यू इंडिया का संकल्प लेकर आगे बढ़ें। सही समय पर अगर कोई काम पूरा नहीं किया गया तो इच्छित परिणाम कभी नहीं मिलते हैं। इसलिए सवा सौ करोड़ टीम इंडिया के लिए हमें संकल्प लेना होगा न्यू इंडिया बनाने का है। 2022 में दिव्य हिंदुस्तान के लिए हम इसे करेंगे। ऐसा भारत बनाएंगे जहां गरीब के पास बिजली, पानी पक्का घर हो। ऐसा हिंदुस्तान बनाएंगे जहां महिलाओं को अपना सपना पूरा करने किए भरपूर अवसर होंगे। आतंकवाद जातिवाद से मुक्त भारत बनाएंगे। स्वच्छ, स्वस्थ होगा और स्वराज के सपने को पूरा करेगा। विकास की दौड़ में आगे बढ़ने का संकल्प लेंगे।

नए संकल्प के साथ आगे चलने के लिए टीम इंडिया का अह्वाहन करता हूं। जय हिंद…जय हिंद…जय हिंद। भारत माता की जय… भारत माता की जय

Loading...

Leave a Reply