कालेधन वालों पर पीएम मोदी का बहुत बड़ा हमला, इन कंपनियों की उड़ गई नींद

नई दिल्ली: कालेधन वालों पर पीएम मोदी ने अबतक का सबसे बड़ा हमला किया है। पीएम के निर्देश के बाद प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारी हरकत में आ गए हैं। देश के अलग अलग हिस्सों में सैंकड़ों कंपनियों की जांच शुरु कर दी गई है। मुंबई में ED के अधिकारियों को छापेमारी में बड़ी कामयाबी मिली। यहां एक आदमी जगदीश पुरोहित के पास 700 फर्जी कंपनी होने का पता चला है। इसी व्यक्ति ने एनसीपी नेता छगन भुजबल को 46 करोड़ की एंट्री दी है।

प्रवर्तन निदेशालय की तरफ से देशभर में 16 राज्यों में तकरीबन 150 जगहों पर छापेमारी को अंजाम दिया जा रहा है। ED की छापेमारी दिल्ली, मुंबई, चेन्नई, बंगलुरु, भुवनेश्वर और कोलकाता जैसे बड़े शहरों में की जा रही है।

ये भी पढें :

-रेलवे ने ‘विकल्प’ स्कीम लागू किया, लोकल के किराये में राजधानी और शताब्दी में सफर
-यूपी में लड़की को छेड़नेवाला SHO सस्पेंड, केस भी दर्ज किया गया

ED की टीम ने एक साथ देश के कई शहरों में छापेमारी शुरु की। दरअसल ED उन फर्जी कंपनियों के खिलाफ कार्रवाई कर रही है जिनका संबंध कालेधन को सफेद करने से है। सूत्रों के मुताबिक इस तरह की तकरीबन 300 कंपनियां ED के निशाने पर है। नोटबंदी के दौरान इन कंपनियों के जरिये 100 करोड़ से ज्यादा का लेनदेन किया गया। इस लेनदेने का मकसद कालेधन को सफेद करना था।

ED के अधिकारी उन कंपनियों के कागजात की जांच कर रही है जिनके शैल होने का शक है। ED की लिस्ट में तकरीबन 300 कंपनियों के नाम दर्ज हैं। इन कंपनियों के एंट्री ऑपरेटर्स ने भी अपनी अहम भूमिका निभाई। इसलिए उनपर भी कार्रवाई की जा रही है।

300 से ज्यादा शेल कंपनियों पर काला धन को सफेद करने का आरोप है। इसी वजह से शुरुआती जांच के बाद कार्रवाई को अंजाम दिया गया है। ED को शक है कि इन कंपनियों को काले धन को सफेद करने के मकसद से ही बनाया गया था। देश के 16 राज्यों में 100 से ज्यादा शहरों में ED की छापेमारी की जा रही है।

ये भी पढें :

-2019 के लिए सांसदों को मोदी का गुरुमंत्र ‘मोबाइल से लड़ा जाएगा लोकसभा चुनाव’

ED को छापेमारी में कई अहम दस्तावेज मिले हैं। जिसमें कई बड़े बिजनेसमैन और राजनेता के नाम सामने आ रहे हैं। मुंबई में जिस जगदीश पुरोहित नाम के एक व्यक्ति के पते पर 700 फर्जी कंपनी होने का पता चला है। सूत्रों के मुताबिक पुरोहित के घर से मिले कागजात में एनसीपी के नेता छगन भुजबल को 46 करोड़ की एंट्री दी गई है।

Loading...