सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत सार्वजनिक करने पर PM लेंगे फैसला, सेना ने सबूत सौंपे

दिल्ली: सेना ने सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत रक्षा मंत्रालय को सौंप दिये हैं। सेना की तरफ से सौंपे गए सबूत में सर्जिकल स्ट्राइक की वीडियो रिकॉर्डिंग भी है। अब सरकार को फैसला करना है कि सबूत को सार्वजनिक किया जाए या नहीं। सीसीएस की बैठक सबूत सार्वजनिक करने पर फैसला लिया जा सकता है।

पीओके में सेना की तरफ से किये गए सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत सार्वजनिक करने की मांग राजनीतिक दलों की तरफ से की गई थी। इस मांग की शुरुआत दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल की तरफ से हुई। जिसके बाद कांग्रेस के भी कई नेताओं ने सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत मांगे थे। सेना ने सरकार को सर्जिकल स्ट्राइक का 90 मिनट का वीडियो सौंपा है। सबूत सार्वजनिक किये जाएं या नहीं इसपर अंतिम फैसला प्रधानमंत्री मोदी लेंगे।

केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत मांगने वालों पर पलटवार किया है। वेंकैया नायडू ने कहा ‘पाकिस्तान सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत मांग रहा है और ये नेता भी सबूत दिखाने के लिए कह रहे हैं। लेकिन इस तरह के गैर जिम्मेदाराना बयानों का जवाब देने की जरुरत नहीं है।‘ कांग्रेस नेता संदीप दीक्षित ने भी कहा है कि इस तरह के मुद्दों पर राजनीति नहीं होनी चाहिए।

Loading...

Leave a Reply