गढ़वा आश्रम में गौ सेवा कर पीएम मोदी ने सपा-कांग्रेस और बसपा का खेल बिगाड़ दिया




वाराणसी: अपने वाराणसी दौरे के तीसरे दिन पीएम ने अपना सबसे बड़ा ट्रंप कार्ड चल दिया है। मोदी का वो ट्रंप कार्ड था वाराणसी के गढ़वा आश्रम में गौ सेवा करना। पीएम मोदी ने गाय के मुंह में केवल निवाला नहीं डाला बल्कि विरोधियों के सामने से वोट की थाली खींच ली। ऐसा इसलिए क्योंकि गढ़वा आश्रम वो जगह है जिसका असर 8 मार्च को होनेवाली वोटिंग से सीधे तौर पर जुड़ा है। गढ़वा आश्रम में महंत शरणानंद से भी मुलाकात की।

गढ़वा आश्रम में पीएम मोदी ने गायों को केला और चारा खिलाया। इतना ही नहीं उन्होंने आश्रम में रूद्राक्ष की माला भी धारण की। दरअसल इस आश्रम के अनुयायी ज्यादातर यादव हैं। और जिन 40 सीटों पर 8 मार्च को वोटिंग होनी है वहां यादवों का बोलबाला है। इसी यादव वोटबैंक को साधने के लिए पीएम मोदी ने गढ़वा आश्रम को चुना। क्योंकि माना जाता है कि इस आश्रम से जो संदेश बाहर निकलता है इसके अनुयायी उसका पालन करते हैं।

pm-modi-and-garwa-ghat-sant

यही नहीं बड़ी तादाद में दलित भी गढ़वा आश्रम के अनुयायी हैं। यानि मोदी ने अपने इस एक दौरे से सपा, कंग्रेस और बसपा की चुनावी रणनीति को बड़ा झटका दिया है। दरअसल बीजेपी की कोशिश गढ़वा आश्रम में पीएम मोदी की गौ सेवा और मौजूदगी दिखाकर इसी वोटबैंक को साधने की है।

निश्चित तौर पर यूपी विधानसभा चुनाव में मोदी ने चुनाव प्रचार के अंतिम दिन ये ट्रंप कार्ड चल दिया है। मोदी ने इसके लिए वो वक्त चुना जब चुनाव प्रचार खत्म होने में काफी कम वक्त बचा है और विरोधियों को मोदी के इस सधी चाल से होनेवाली क्षतिपूर्ति की भरपाई करने का मौका भी नहीं मिलेगा।

Loading...