मोदी का ऑपरेशन ब्लैक मनी: स्विस बैंक पहुंचने वाले भारतीयों में 45 फीसदी की कमी

नई दिल्ली:  दिल्ली में चार्टर्ड अकाउंटेंट को संबोधित करते हुए पीएम ने उन्हें उनकी शक्ति के बारे में बताया। पीएम ने कहा देश के प्रधानमंत्री के सिग्नेचर में उतनी शक्ति नहीं होती है जितनी शक्ति एक CA के सिग्नेचर में होती है। पीएम ने देश के CA से उन लोगों को सही रास्ते पर लाने के लिए कोशिश करने की बात कही जो उलटा सीधा हिसाब दिखाकर टैक्स देने से खुद को बचाते हैं और कालाधन अपनी तिजोरी में भरकर रखने की कोशिश करते हैं।

पीएम मोदी ने कहा अगर परिवार का ही कोई सदस्य चोरी करने की आदत रखता है तो वो परिवार कभी खड़ा नहीं हो सकता है। उसी तरह अगर देश में कुछ लोगों को चोरी करने की आदत लग जाए तो जैसे परिवार उठ खड़ा नहीं हो पाता है वैसे ही वो देश उठ खड़ा नहीं हो पाता है। सारे सपने टूट जाते हैं विकास रूक जाता है। ऐसे लोगों के खिलाफ सरकार ने पिछले तीन वर्षों में कई नए कानून बनाए हैं। कितने ही देशों के साथ समझौते किये गए हैं। पुराने समझौते में बदलाव किया गया है।

पीएम ने कहा स्विस बैंक ने बताया है भारतीयों द्वारा जमा राशि अबतक के रिकॉर्ड में सबसे निचले स्तर पर पहुंच गया है। 30 साल पहले 1987 में स्विस बैंकों ने बताना शुरु किया था कि किस देश के लोग कितना पैसा जमा करवा रहे हैं। पिछले साल का रिकॉर्ड जो आया है उसमें भारतीयों के पैसे में 45 फीसदी कमी आई है। पीएम ने कहा 2013 में स्विस बैंक में भारतीयों के जो पैसे जमा होते थे उसमें 42 फीसदी की बढ़ोतरी हुई थी।

Loading...