मोदी सरकार अब काला धन को सफेद करनेवाले CA और CS पर करेगी कार्रवाई

नई दिल्ली: नोटबंदी के बाद जिस तरह से काले धन कुबेरों ने अपनी काली कमाई को ठिकाने लगने के लिए अलग अलग तरह के हथकंडे अपनाए अब वो सामने आ रहे हैं। ये बात जाहिर हो चुकी है कि काला धन को सफेद करने में चार्टर्ड अकाउंटेंट और कंपनी सेक्रेटरीज यानि CA और CS ने अहम भूमिका निभाई। इसलिए सरकार अब उन CA और CS पर कार्रवाई की तैयारी कर रही है जिन्होंने शेल कंपनी के जरिये काला धन को सफेद किया।

प्रवर्तन निदेशालय ने दो दिन पहले वीरेंद्र जैन और सुरेंद्र जैन को इस मामले में गिरफ्तार किया है। शक है कि 11 हजार करोड़ के घोटाले में 54 प्रोफेशनल्स शामिल हैं। प्रवर्तन निदेशालय इस मामले में प्रोफेशनल्स से पूछताछ के लिए नोटिस भेजेगा। इस मामले में दोषी पाए जाने के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग के तहत कार्रवाई की जाएगी।

ये भी पढें :

– 2019 की तैयारी का ट्रेलर, यूपी के बाद गुजरात और राजस्थान के सांसदों से मिले पीएम मोदी
– EVM में छेड़खानी के मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग को भेजा नोटिस

CA और CS के इस गोरखधंधे का खुलास तब हुआ जब प्रवर्तन निदेशालय ने वीरेंद्र जैन और सुरेद्र जैन को गिरफ्तार किया। इनपर 90 फर्जी कंपनियां बनाकर करीब चार हजार करोड़ की काली कमाई को सफेद करने का आरोप है। वीरेंद्र और सुरेंद्र जैन की गिरफ्तार से इस गड़बड़ी का भंडाफोड़ हुआ। इन्होंने 90 फर्जी कंपनियों की मदद से 559 लोगों को फायदा पहुंचाया। इनसे फायदा लेनेवालों में कई बड़े नाम भी शामिल हो सकते हैं।

Loading...

Leave a Reply